Tuesday , September 26 2017
Home / Khaas Khabar / भारत माता नारा ना लगाने वालों को कालर पकड़ कर पाकिस्तान क्यों नहीं भेजा जाता:उद्धव ठाकरे

भारत माता नारा ना लगाने वालों को कालर पकड़ कर पाकिस्तान क्यों नहीं भेजा जाता:उद्धव ठाकरे

मुंबई 07 अप्रैल: एन डी ए हुकूमत को कलीदी हलीफ़ शिवसेना की तन्क़ीदों का सामना करना पड़ा और पार्टी सदर अवधू ठाकरे ने दावा किया कि मुल्क में हुकूमत के ख़िलाफ़ बेहद नाराज़गी पाई जाती है। उन्होंने वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी के बैरूनी दौरों का भी मज़ाक़ उड़ाया। पार्टी तर्जुमान सामना में शाय ईदारिया(एडिटोरियल) में भी पाकिस्तानी मीडिया की इत्तेलाआत के हवाले से भी हुकूमत पर तन्क़ीद की गई।

पाकिस्तानी मीडिया में कहा गया है कि जवाइंट इन्वेस्टीगेशन टीम (जय आई टी) ने पता चलाया है कि पठानकोट दहश्तगर्द हमला हिन्दुस्तान की कारस्तानी है। शिवसेना ने कहा कि ये पड़ोसी मुल्क का सुर्ख़ क़ालीन पर इस्तिक़बाल करने का नतीजा है और इस बारे में ख़बरदार करने के बावजूद हुकूमत ने कोई परवाह नहीं की। ठाकरे ने भारतीय कामगार सेना के जलसे से ख़िताब करते हुए कहा कि अवाम को नई हुकूमत से जो उम्मीदें वाबस्ता थीं अब हर गोशे से उन्हें ख़तरात नज़र आरहे हैं।

उन्होंने दावा किया कि आम आदमी की परेशानीयों की हुकूमत को कोई परवाह नहीं और वो टैक्सेस के अलावा इफरात-ए-ज़र की शरह में मुसलसिल इज़ाफे के बोझ तले दबे हुए हैं। उन्होंने बताया कि मुल्क के हालात इंतेहाई खराब हैं और अवाम में हर तरफ़ मायूसी पाई जाती है। फ़ौजी जवान सरहदों की हिफ़ाज़त के लिए सख़्त मेहनत कर रहे हैं और किसान खेतों में मशक़्क़त उठारहे हैं। हुकूमत को अवाम की मेहनत की कमाई की कोई परवाह नहीं जो वो बैंकों में जमा करते हैं। विजय माल्या जैसे लोग ये रक़म लेकर मुल्क से फ़रार होजाते हैं। अवाम जो सख़्त मेहनत करके अपनी रक़म जमा करते हैं उन्हें टैक्स अदा करना होता है।

TOPPOPULARRECENT