Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / भूख मिटाने के लिए कीड़े खाईए, अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की तजवीज़

भूख मिटाने के लिए कीड़े खाईए, अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की तजवीज़

रोम, 14 मई: ( ए पी ) अक़वाम-ए-मुत्तहिदा को भूख-ओ-इफ़लास ( hunger, boost nutrition and reduce pollution) से लड़ाई , तग़ज़िया में तक़वियत और आलूदगी को घटाने के लिए नए हथियार मिल गए हैं, और वो आप के आस पास ही रेंग रहे हैं या आप के करीब परवाज़ कर रहे हैं : ख़ुर्दनी कीड़े फ़ूड एंड एग्र

रोम, 14 मई: ( ए पी ) अक़वाम-ए-मुत्तहिदा को भूख-ओ-इफ़लास ( hunger, boost nutrition and reduce pollution) से लड़ाई , तग़ज़िया में तक़वियत और आलूदगी को घटाने के लिए नए हथियार मिल गए हैं, और वो आप के आस पास ही रेंग रहे हैं या आप के करीब परवाज़ कर रहे हैं : ख़ुर्दनी कीड़े फ़ूड एंड एग्रीकल्चरल आर्गेनाइज़ेशन ने आज टिड्डों , चूटियों और दुनियाए हशरात-उल-अर्ज़ के दीगर अरकान को लोगों, मवेशियों और पालतू जानवरों के लिए इसी ग़िज़ा को क़रार दिया है|

जिस का अब तक माक़ूल इस्तेमाल नहीं हुआ। 200 सफ़हात की रिपोर्ट में जिसे यू एन एजेंसी के रुम हेडक्वार्टर्स में मुनाक़िदा न्यूज़ कान्फ्रेंस में जारी किया गया, बताया गया कि दुनिया भर में दो बिलियन लोग पहले से ही अपनी ख़ुराक में हशरात-उल-अर्ज़ का इस्तेमाल करते हैं जो प्रोटीन और मादनियात के मुआमले में निहायत मुफीद हैं और उनके माहौलियाती फ़ायदे भी रहते हैं। फ़ूड एजेंसी ने कहा कि ग़िज़ा और ग़िज़ाई सलामती से निमटने के कई तरीकों में कीड़ों की परवरिश शामिल है।

TOPPOPULARRECENT