Tuesday , August 22 2017
Home / World / भूमध्यसागर में मिला इजिप्टएयर का मलबा : मिस्र सेना

भूमध्यसागर में मिला इजिप्टएयर का मलबा : मिस्र सेना

काहिरा : पेरिस से 66 लोगों को लेकर काहिरा जा रहे इजिप्टएयर विमान 804 के भूमध्य सागर में दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद आज विमान के मलबे की तलाश के लिए व्यापक स्तर पर तलाश मुहिम जारी है. वहीं मिस्र सेना का कहना है कि भूमध्यसागर में इजिप्टएयर का मलबा मिला है. 

अपना रास्ता भटककर भूमध्यसागर में गिरे एयरबस ए 320 में सवार किसी भी सख्श के जींदा बचे होने की इमकान नहीं है. उस दिन की विमान की यह पांचवी उडान थी और रडार से लापता होने के दौरान वह 37,000 फुट की उंचाई पर उडान भर रहा था. पेरिस के लिए उडान भरने से पहले विमान ट्यूनिशिया में रुका था.

मिस्र की नौसेना, वायुसेना और सेना फ्रांस, यूनान, ब्रिटेन और अमेरिका के मदद से मिस्र के समुद्री इलाके में मलबे की खोज कर रही है. यूनान के रक्षा मंत्री पैनोस कैम्मेनोस ने बताया कि भूमध्य सागर के उपर रडार की पहुंच से लापता होने से पहले विमान ‘अचानक अपना रास्ता भटक गया’. वह 90 डिग्री बायीं ओर मुडा और फिर 360 डिग्री दाईं ओर मुडकर रास्ता भटक गया. इसके बाद विमान 37,000 फुट से गिरकर 15,000 फुट की उंचाई पर आ गया.

जहाज में पायलॉट दल के 10 सदस्य (कॉकपिट क्रू के दो, केबिन क्रू के पांच और तीन सुरक्षा कर्मी) और 56 मुसाफिर सवार थे. इजिप्टएयर ने बताया कि जहाज में दो शिशु और एक बच्चा भी सवार थे. मुसाफीरों में मिस्र के 30 नागरिकों के अलावा 15 फ्रांसीसी, दो इराकी और ब्रिटेन, बेल्जियम, कुवैत, सउदी अरब, सूडान, चाड, पुर्तगाल, अलजीरिया और कनाडा के एक-एक मुसाफिर सवार थे.

इजिप्टएयर ने शुरु में बताया था कि मिस्र के विदेश मंत्रालय ने विमान का मलबा मिलने की तकदीक की है लेकिन बाद में उन्होंने इस दावे को वापस ले लिया. इजिप्टएयर के उपाध्यक्ष अहमद अदेल ने सीएनएन को बताया कि जब खोजकर्ता भूमध्य सागर में मलबे के करीब गए तो उन्होंने महसूस किया कि वह लापता विमान का मलबा नहीं है.

अदेल ने बताया, ‘मलबा मिलने पर हमने फिर अपना रुख सही किया, क्योंकि जो हमें मिला था वह हमारे जहाज का मलबा नहीं था. इसलिए खोज और बचाव अभी भी जारी है.’ उन्होंने बताया कि जहाज के रख रखाव की जांच वक्त पर पूरी हो गई थी और ‘जहाज में किसी तकनीकी खराबी की इत्तीला’ नहीं थी.

मिस्र के नागर विमानन मंत्री शरीफ फतही ने कहा कि हादसे के पीछे तकनीकी खराबी और आतंकी हमला दोनों वजह हो सकते हैं.

फतही ने कहा, ‘अगर आप हालात का गहन विश्लेषण करें तो भिन्न कार्रवाई या आतंकी हमले की इमकान तकनीकी विफलता की संभावना से कहीं ज्यादा है.’ इधर अमेरिका ने कहा है कि ‘‘इस वक्त यकीनी तौर पर’ वह नहीं जानता कि पेरिस से काहिरा जा रहे इजिप्टएयर विमान के लापता होने के पीछे क्या वजह हैं. बहरहाल, पेंटागन ने यह एलान की है कि उसने जहाज के मलबे की तलाश में मदद के लिए एक निगरानी विमान तैनात किया है.

TOPPOPULARRECENT