Tuesday , October 17 2017
Home / India / भोपाल गैस मुतास्सरीन ( पीड़ीतो) का एहतिजाज

भोपाल गैस मुतास्सरीन ( पीड़ीतो) का एहतिजाज

भोपाल गैस अलमीया से मुतास्सिरा ( पीड़ित) ख़वातीन ( महिलाओं) की मदद के लिये काम करने वाली एक गैर सरकारी तंज़ीम भोपाल गैस पेटरत महिला उद्योग संघटन ने लंदन ओलम्पिक खेलों की डाव कंपनी की जानिब से स्पांसर शिप कुबूल किए जाने के ख़िलाफ़ एहतिजा

भोपाल गैस अलमीया से मुतास्सिरा ( पीड़ित) ख़वातीन ( महिलाओं) की मदद के लिये काम करने वाली एक गैर सरकारी तंज़ीम भोपाल गैस पेटरत महिला उद्योग संघटन ने लंदन ओलम्पिक खेलों की डाव कंपनी की जानिब से स्पांसर शिप कुबूल किए जाने के ख़िलाफ़ एहतिजाज करते हुए आज डाव केमीकल कंपनी , मर्कज़ी हुकूमत , हुकूमत मध्य प्रदेश और बैन अल-अक़वामी (अंतराष्ट्रीय) ओलम्पिक कमेटी आग के पुतले नज़र-ए-आतिश किया ।

गैर सरकारी तंज़ीम ( एन जी ओ ) के कन्वीनर अबदुल जब्बार ने कहा कि मर्कज़ और रियासती हुकूमत दोनों ही ने इस बात को यक़ीनी नहीं बताया कि भोपाल गैस अलमीया की ज़िम्मेदार कंपनी यूनीयन कार्बाईड को ख़ुद में ज़म करने वाली कंपनी डाव केमीकलस की जानिब से स्पांसर शिप के बाद हिंदूस्तानी जत्था लंदन रवाना नहीं होगा । और ना ही ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लिया जाएगा ।

अबदुल जब्बार ने कहा कि भोपाल गैस मुतासरीन ( पीड़ीतो) की मुख़ालिफ़त ( विरोध) के बावजूद डाव केमीकल्स कंपनी ने लंदन ओलम्पिक़्स को स्पांसर कीया । 1984 में भोपाल में वाक़्य यूनीयन कार्बाईड कंपनी से गैस के इख़राज ( रिसने) के बाद कई तनज़ीमों ( संस्थानो) के कारकुन महलोकेन-ओ-मुतास्सरीन के ख़ानदानों की बाज़ आबादकारी के लिये काम कर रहे हैं और ये तमाम डाव केमीकल कंपनी की इसलिये मुख़ालिफ़त कर रहे हैं कि यूनीयन कार्बाईड को ख़ुद में ज़म कर लिया है ।

TOPPOPULARRECENT