Wednesday , August 23 2017
Home / Crime / भोपाल मुठभेड़ की जांच सुप्रीम कोर्ट से कराई जाए: ओवैसी

भोपाल मुठभेड़ की जांच सुप्रीम कोर्ट से कराई जाए: ओवैसी

भोपाल की एक जेल से सिमी कार्यकर्ताओं के भागने और बाद में पुलिस के साथ एक मुठभेड़ में मारे जाने की सरकारी कहानी में “खामियों” का आरोप लगाते हुए एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने “सभी तथ्यों” को बाहर लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा जांच की मांग की।

राज्य के गृह मंत्री और पुलिस के बयान में बहुत फर्क है। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री का कहना है कि ये विचाराधीन कैदी चम्मचों से लेस थे। अगर यह कैदी चम्मचों से लेस थे तब मध्य प्रदेश एटीएस उन्हें आसानी से काबू कर सकती थी, क्योंकि एटीएस के पास सभी अत्याधुनिक हथियार है। उन्हें आसानी से गिरफ्तार किया जा सकता था।

“लेकिन, जो लोग जेल में एक गार्ड की हत्या करके भाग निकले हैं, उनके पास हथियार के रूप में केवल चम्मचें हैं। यह कहानी किसी भी सामान्य व्यक्ति के लिए आश्चर्यजनक होगी,” उन्होंने आगे कहा।

सुप्रीम कोर्ट के द्वारा मामले की जांच सभी तथ्यों और उन्हें दबाने के लिए किये गए किसी भी प्रयास को बाहर ले आएगी, हैदराबाद के सांसद ने कहा।

उन्होंने इस तथ्य पर भी आश्चर्य जताया कि मुठभेड़ में मारे गए कैदी घड़ियां, जूते और बेल्ट पहने हुए थे क्योंकि विचाराधीन कैदियों को यह सब रखने की अनुमति नहीं है।

एक विश्वसनीय जांच कैदियों के जेल से भागने, मुठभेड़ और हाथों में घड़ियाँ बंधे होने से सम्बंधित सभी तथ्य बाहर निकालेगी, ओवैसी ने कहा।

उन्होंने आगे कहा कि मुठभेड़ में हत्याएं न्याय के मुद्दे की मदद नहीं कर सकती। इस घटना का सच सबके सामने आना ज़रूरी है।

TOPPOPULARRECENT