Friday , October 20 2017
Home / Crime / भ्रदवाज क़त्ल केस : बेटे पर शुबा, पूछताछ‌ के बाद गिरफ़्तारी

भ्रदवाज क़त्ल केस : बेटे पर शुबा, पूछताछ‌ के बाद गिरफ़्तारी

नई दिल्ली, 10 अप्रेल: बी एस पी के मक़्तूल क़ाइद दीपक भ्रदवाज के बेटे से पूछताछ के लिए पुलिस ने आज उसे तलब किया। पुलिस ये जानने की कोशिश में है कि कहीं बेटे ने तो बाप के क़त्ल की सुपारी नहीं दी थी?

नई दिल्ली, 10 अप्रेल: बी एस पी के मक़्तूल क़ाइद दीपक भ्रदवाज के बेटे से पूछताछ के लिए पुलिस ने आज उसे तलब किया। पुलिस ये जानने की कोशिश में है कि कहीं बेटे ने तो बाप के क़त्ल की सुपारी नहीं दी थी? क्योंकि मक़्तूल भ्रदवाज अपने बेटे के एक ख़ातून से नाजायज़ ताल्लुक़ात पर सख़्त ब्रहम थे। भ्रदवाज के बेटे तनीश से पूछताछ‌ की गई और उन्हें गिरफ़्तार करलिया गया।

भ्रदवाज का 26 मार्च को राजू करी में उन के फ़ार्म हाउस में क़त्ल कर दिया गया था जबकि शूटर्स का इंतिज़ाम करने वाला स्वामी प्रतीमा नंद फ़रार बताया गया है। ज़राए ने बताया कि इस सिलसिले में एक वकील से भी पूछताछ‌ की जा रही है। जब ये इस्तिफ़सार किया गया कि क्या नतीश भी गिरफ़्तार किया जा चुका है तो पुलिस ने सिर्फ़ इतना बताया कि इस से पूछताछ‌ की जा रही है।

दूसरी तरफ़ पुलिस ज़राए ने बताया कि भ्रदवाज के क़त्ल के लिए 3 ता 6 करोड़ रुपये का कांट्रेक्ट किया गया था जिस में से स्वामी प्रतीमा नंद को भी मुबय्यना तौर पर 2 करोड़ रुपये मिले हैं। याद रहे कि इस सिलसिले में 4 अफ़राद दो मुबय्यना शूटर्स पुरुषोत्तम राना और सुनील मान,कार चलने वाला ड्राईवर अमीत और कार के मालिक राकेश को पहले ही गिरफ़्तार किया जा चुका है जबकि रोहतक में एक नहर से पुलिस ने दो देसी साख़ता पिस्तौल भी बरामद किए हैं जिन का मुबय्यना तौर पर भ्रदवाज के क़त्ल में इस्तिमाल किया गया था।

ये बात भी काबिले ज़िक्र है कि स्वामी प्रतीमा नंद को अपना ख़ानगी आश्रम शुरू करने की बड़ी ख़ाहिश थी और कहा जा रहा हैकि शायद इसी ख़ाहिश की तकमील के लिए उन्होंने ये कांट्रेक्ट हासिल किया था ताकि पलक झपकते ही करोड़ पती बन जाएं। प्रतीमा नंद गुज़िश्ता देढ़ साल से अपने ख़ानगी आश्रम के लिए हरी द्वार, करनाल और सोलान में आराज़ियात की तलाश में था और दीगर कई मुक़ामात पर भी इस ने आश्रम के लिए मुनासिब आराज़ियात का मुआइना किया था।

TOPPOPULARRECENT