Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / मक्का मस्जिद में बम नसब करने वाले मुल्ज़िम की शहर मुंतक़ली

मक्का मस्जिद में बम नसब करने वाले मुल्ज़िम की शहर मुंतक़ली

हैदराबाद 28 दिसमबर: एन आई ए ने आज मक्का मस्जिद में बम नसब करने वाले मुल्ज़िम को मध्य प्रदेश से शहर मुंतक़िल कर के जेल भेज दिया ।

हैदराबाद 28 दिसमबर: एन आई ए ने आज मक्का मस्जिद में बम नसब करने वाले मुल्ज़िम को मध्य प्रदेश से शहर मुंतक़िल कर के जेल भेज दिया ।

तेजा राम परमार उर्फ़ ख़लीफ़ा को सख़्त सेक्यूरिटी में आज नामपली कोर्ट लाया गया जहां जज ने 11 जनवरी तक अदालती तहवील में दे दिया ।

एन आई ए ने परमार को 20 दिन की पुलिस तहवील में लेने दरख़ास्त दाख़िल की जिस की समाअत कल होगी । एन आई ए ने अदालत को बताया कि परमार ने 18 मेए साल 2007 में तारीख़ी मक्का मस्जिद की जाल पर बम से लदा बैग नसब किया था जबके इस के साथी राजिंदर चौधरी उर्फ़ समुंद्र पहलवान ने तख़्त के नीचे बम नसब किया था ।

बम फटने से 9 मुसल्ली जहां बहक और 58 ज़ख़मी होगए थे । एन आई ए डी एस पी मिस्टर रमना मूर्ती ने अदालत से दरख़ास्त की कि परमार को मुल्ज़िम नंबर 9 और राजिंदर को मुल्ज़िम नंबर 8 के तौर पर शामिल किया जाये ।

एजैंसी ने समझौता एक्सप्रैस धमाका केस में गिरफ़्तार राजिंदर चौधरी के इन्किशाफ़ पर परमार को इंदौर के दीपल पर से गिरफ़्तार किया था और टरांज़ट वारंट पर हैदराबाद मुंतक़िल क्या ।

एन आई ए ने रीमांड रिपोर्ट में अदालत को ये बताया कि मक्का मस्जिद बम धमाके में साबिक़ में देवेंद्र गुप्ता ,लोकेश शर्मा ,नबा कुमार सरकार उर्फ़ स्वामी असीमानंद ,भरत मोहन लाल रतीशोर उर्फ़ भरत भाई को गिरफ़्तार किया था ।

कलीदी मुल्ज़िमीन राम चन्द्र कालसनगरा और संदीप दानगे हनूज़ मफ़रूर हैं। तहक़ीक़ाती एजैंसी ने अदालत से दरख़ास्त की है कि तेजा राम परमार को जेल के अलहदा सिल में महरूस रखा जाये ।

TOPPOPULARRECENT