Sunday , October 22 2017
Home / District News / मजलिस बलदिया के इंतिख़ाबात का फिर एक मर्तबा रद‌

मजलिस बलदिया के इंतिख़ाबात का फिर एक मर्तबा रद‌

करीमनगर 31 मार्च: ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) म्यूनसिंपल में स्पेशल ऑफीसर की ज़ेर निगरानी(अधीन) इख़्तयारात की मुद्दत आज यानी 31मार्च को ख़त्म होरही है । अब फिर एक बार छः माह के लिए मजलिस बलदियात स्पेशल ओहदेदारों की ज़ेर निगरानी होंगी।

इस ताल्लुक़ से एहकामात की इजराई के लिए हुकूमत ने तैयारी करली है । मुक़ामी इदारों से क़बल ही मजलिस बलदिया कारपोरेशन, कौंसिलरों, कारपोरीटर्स, मेयर-ओ-सदूर बलदियात की मीयाद ख़त्म होगई थी चुनांचे म्यूनसिंपलस के इंतिख़ाबात हुए थे लेकिन हुकूमत इससे क़बल मुक़ामी इदारों के चिन्ह के मंसूबा पर अमल कररही है ।

18 फ़रव‌री को सुप्रीम कोर्ट के दिए गए फ़ैसले के तेहत मुक़ामी इदारों के चिन्ह के लिए तैयारियां शुरू करदी गई हैं । हुकूमत की हिदायत पर ज़िला इंतिज़ामिया की जानिब से वोटर्स का ज़ाबता तैयार करलिया गया है और इस में तरमीम(सुधार), जाँच‌ का अमल शुरू करके बी सी, एस सी, एस टी वोटर ज़ाबता भी तर्तीब दिया गया है ।

जून में शायद इंतिख़ाबात होंगे अलबत्ता म्यूनसिंपल के चिन्ह का मुक़ामी इदारों, पंचायत के बाद कराए जाने का हुकूमत ने फ़ैसला करलिया है । चुनांचे फिर छः माह के लिए हसब-ए-मामूल तमाम बलदियात के स्पैशल ओहदेदारों के इख़्तयारात के तेहत होंगे ।

1 मार्च बरोज़ इतवार स्पैशल ऑफीसर के इख़्तयारात का आख़िरी दिन है । एक अप्रैल के बाद हुकूमत की जानिब से किसी भी दिन मज़ीद छः माह के लिए स्पैशल ऑफीसर को मुतय्यन किए जाने के एहकामात की इजराई होगी । हुकूमत की जानिब से ये एलान कि मुक़ामी इदारों के चिन्ह के बाद म्यूनसिंपल के चिन्ह करवाए जाऐंगे, लेकिन इमकान है कि मुक़ामी इदारों के चिन्ह में बरसर-ए-इक़तिदार हुकूमत को ख़ातिरख़वाह कामयाबी होगी तो म्यूनसिंपल के चिन्ह का ऐलान किया जाएगा ।

बसूरत-ए-दीगर वही छः माह बाद ही चुनाव‌ होंगे । मजलिस बलदियात की मीयाद का इख़तताम होकर दो साल होचुके हैं । दो साल से स्पैशल ओहदेदारों की ज़ेर निगरानी मजलिस बलदियात को चलाया जा रहा है । मीयाद के इख़तताम के अंदरून छः माह दुबारा चनाव‌ करवाए जाने थे ।

सितम्बर 2010 में बलदियात कौंसिल की मीयाद ख़त्म होगई थी जब से अब तक हर छः माह में एक बार स्पैशल ओहदेदारों की ज़ेर निगरानी इख़्तयारात में बड़ा दी जा रही है । ताहाल पाँच मर्तबा इस तरह तौसी की गई है । उम्मीद थी कि अब चनाव‌ होंगे लेकिन ऐसा इमकान नज़र नहीं आरहा है ।

TOPPOPULARRECENT