Thursday , August 17 2017
Home / India / मजहब बदलो वरना नहीं देंगे नौकरी, सरकारी फरमान से परेशान युवक की दास्ताँ

मजहब बदलो वरना नहीं देंगे नौकरी, सरकारी फरमान से परेशान युवक की दास्ताँ

जयपुर: इंसान के सामने ज़िन्दगी में कई बार ऐसी मुश्किलें आ जाती हैं जिससे उसकी ज़िन्दगी बिलकुल अलग ही पटरी पर चली जाती है। कुछ ऐसी की दास्ताँ है जयपुर में रहने वाले इस युवक की जो सरकारी फरमान की वजह से इस कदर परेशान है कि उसे समझ नहीं आ रहा कि करे तो क्या करे।

19 साल के इस युवक का नाम है योगेश कुमार और यह राजस्थान का रहने वाल है। कुछ दिन पहले सीआरपीएफ में भर्ती होने के लिए इस युवक ने आवेदन किया था जिसके बाद सभी टेस्ट पास करने के बाद इसे नौकरी में रखे जाने के लिए चुन लिया गया लेकिन योगेश को नहीं पता था कि उसके लिए मुश्किलें शुरू होने वाली हैं।

दरअसल योगेश ने नौकरी के लिए किये गए आवेदन में खुद को एक हिन्दू बताया था जबकि उसकी जाति को राजस्थान में सरकार के तरफ से मुस्लिम समुदाय में शामिल घोषित किया हुआ है। ऐसे में सरकार ने योगेश के हाथ में फरमान थमाते हुए कहा है कि “मजहब बदलो और इस्लाम अपना या नौकरी को भूल जाओ”।

ऐसे में योगेश की हालत घर का न घाट का जैसी है। अगर सिर्फ नौकरी पाने के लिए इस्लाम अपनाता है तो यह इस्लाम और खुद अपने साथ भी एक धोखा करने जैसा होगा। और अगर वो इस्लाम नहीं अपनाता है तो नौकरी और करियर दांव पर लग रहा है। फैसला है तो मुश्किल लेकिन फैसला लेने के लिए योगेश के पास वक़्त बहुत कम है।

TOPPOPULARRECENT