Monday , October 23 2017
Home / Delhi News / मदफ़ून खज़ाने की तलाश, सुप्रीम कोर्ट की मफ़ाद-ए-आम्मा की दर्ख़ास्त पर समाअत

मदफ़ून खज़ाने की तलाश, सुप्रीम कोर्ट की मफ़ाद-ए-आम्मा की दर्ख़ास्त पर समाअत

सुप्रीम कोर्ट ने मफ़ाद-ए-आम्मा की इस दर्ख़ास्त पर समाअत करने से आमादगी का इज़हार किया है जो मौज़ा दोन्डया खीरा ज़िला अनाव‌ यूपी में महकमा आसारे-ए-क़दीमा (ASI) की जानिब से सोने के हुसूल केलिए जारी खुदवाई अदालत की ज़ेर-ए-निगरानी करवाए जाने

सुप्रीम कोर्ट ने मफ़ाद-ए-आम्मा की इस दर्ख़ास्त पर समाअत करने से आमादगी का इज़हार किया है जो मौज़ा दोन्डया खीरा ज़िला अनाव‌ यूपी में महकमा आसारे-ए-क़दीमा (ASI) की जानिब से सोने के हुसूल केलिए जारी खुदवाई अदालत की ज़ेर-ए-निगरानी करवाए जाने का मुतालिबा करते हुए दाख़िल की गई थी।

चीफ़ जस्टिस पी सथासीवम की क़ियादत वाली एक बेंच ने पहले पहल तो दर्ख़ास्त की आजलाना समाअत से ये कह कर इनकार कर दिया था कि दर्ख़ास्त में कई खामियां और गलतियां हैं, उन्हें दूर करलिया जाये इसके बाद अदालत समाअत करसकती है। एडवोकेट एम एल शर्मा ने मफ़ाद-ए-आम्मा की दर्ख़ास्त का इदख़ाल किया था और मुतालिबा किया था कि सोने की तलाश केलिए जो खुदवाई की जा रही है वो काम सुप्रीम कोर्ट की ज़ेर-ए-निगरानी अंजाम दिया जाना चाहिए कहीं ऐसा ना हो कि नाम निहाद सोना या वसाइल ग़ायब होजाएं लिहाज़ा दाख़िल करदा दर्ख़ास्त पर आजलाना समाअत की जाये।

बेंच ने पहले पहल ये इस्तिदलाल पेश किया कि मज़कूरा खुदवाई के काम की निगरानी रियासती हुकूमत की ज़िम्मेदारी है लेकिन उस के बाद दर्ख़ास्त में मौजूद ग़लतियों को हज़फ़ करने पर अदालत ने समाअत पर आमादगी का इज़हार किया। एक साधू शोभन सरकार ने ख़ाब में देखा था कि मौज़ा दोन्डया खीरा में राजा राव‌ राम बख्श सिंह के क़िला के क़रीब 1000 टन सोना मदफ़ून है जिस पर महकमा आसारे-ए-क़दीमा (ASI) ने वहां खुदवाई का आग़ाज़ कर दिया है।

शोभन सरकार ने इद्दिआ किया है यू पी के कई दीगर इलाक़ों में भी खज़ाने मदफ़ून हैं। राजा राव‌ राम बख्श सिंह 1857 की जंग-ए-आज़ादी के शहीद हैं। शोभन सरकार के ख़ाब को लोगों ने संजीदगी से नहीं लिया। ज़िला इंतिज़ामिया और रियास्ती सरकार ने भी शोभन सरकार की बात पर यक़ीन नहीं किया लेकिन एक मर्कज़ी वज़ीर ने शोभन सरकार से मुलाक़ात की थी और शोभन ने उन्हें किस तरह बावर करवाने में कामयाबी हासिल की कि वज़ीर मौसूफ़ ने फ़ौरी तौर पर ASI को ख़ज़ाना हासिल करने केलिए खुदवाई का हुक्म देदिया।

TOPPOPULARRECENT