Sunday , August 20 2017
Home / India / मध्य प्रदेश: बीजेपी अध्यक्ष ने लीवर बदलने के लिए जमा किये थे 11 लाख, मोदी के फैसले ने बना दिया रद्दी

मध्य प्रदेश: बीजेपी अध्यक्ष ने लीवर बदलने के लिए जमा किये थे 11 लाख, मोदी के फैसले ने बना दिया रद्दी

भोपाल: यहाँ एक व्यक्ति ने अपने लीवर प्रत्यारोपण के लिए अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से 11 लाख रूपये इकठ्ठा किये थे लेकिन राजग सरकार के नोटबंदी के आदेश के बाद अस्पताल ने उन पैसों को लेने से इनकार कर दिया है।

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले के लिधोरा कसबे के भाजपा अध्यक्ष, हरी कृष्ण गुप्ता का कहना है कि वह खुद अपनी पार्टी के फैसले के पीड़ित हैं। “अगर अगले पांच दिन में प्रत्यारोपण नहीं होता है तो मैं मर जाऊंगा, ” वह परेशानी के साथ बोलते हैं।

उन्होंने बताया कि ऑपरेशन के लिए उन्हें 19 लाख रूपये जेपी हॉस्पिटल, नॉएडा में जमा करने थे। उनका ऑपरेशन 13 नवम्बर को होना था लेकिन उससे पांच दिन पहले सरकार ने 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए।

लीवर फेल हो जाने के बाद, पिछले पांच महीने से वे बिस्तर पर हैं। उनका बेटा एक छोटी सी समोसे, भजिया और चाय की दुकान चलाता है।

“नोटबंदी की घोषणा हमारे लिए एक बहुत बुरी खबर थी क्योंकि जो भी पैसा हमने इलाज के लिए इकठ्ठा किया था वह नकद में हमारे पास रखा था,” गुप्ता के बेटे अमित ने कहा।

“हमने टीवी पर मोदी को देखने के बाद, टीकमगढ़ जिले से भाजपा के सांसद वीरेंद्र खटीक, विधायक केके श्रीवास्तव (टीकमगढ़), अनीता नायक (पृथ्वीपुर), अनिल जैन(निवाड़ी) सहित स्थानीय भाजपा नेताओं से मदद लेने की कोशिश की और जतारा से कांग्रेस के विधायक दिनेश अहिरवार से मदद मांगी। लेकिन उनमें से कोई भी मदद का आश्वासन नहीं दे पाया, और अभी तक कुछ नहीं किया जा सका है। हमारे पास समय बहुत कम है”, अमित ने कहा।

पीड़ित के भाई हरी मोहन गुप्ता ने कहा, “भाग्यवश मेरा लीवर मेरे भाई के लीवर से मैच कर गया था लेकिन नोटबंदी के फैलसे से हम फँस गए हैं” ।

परिवार के पास सिर्फ 11 लाख रूपये हैं जबकि उन्हें इलाज के लिए 19 लाख रूपये की ज़रूरत है। परिवार ने बाकि पैसे के इंतज़ाम के लिए अपना घर बेचने का निर्णय लिया है।

लेकिन अभी तक घर खरीदने के लिए भी कोई नहीं आया है।

TOPPOPULARRECENT