Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / मनमोहन सिंह , सोनीया गांधी और गडकरी की रिहायश गाह के घेराव की कोशिश

मनमोहन सिंह , सोनीया गांधी और गडकरी की रिहायश गाह के घेराव की कोशिश

साबिक़ा टीम अन्ना के अरकान अरविंद केजरीवाल और दीगर पाँच को आज वज़ीर-ए-आज़म (प्रधान मंत्री)और कांग्रेस-ओ-बी जे पी पार्टी सदूर की रिहायशगाह के रूबरू एहितजाजी मुज़ाहरा करने पर हिरासत में ले लिया गया। कोयला बलॉकतख़सीस के मसला पर ये ए

साबिक़ा टीम अन्ना के अरकान अरविंद केजरीवाल और दीगर पाँच को आज वज़ीर-ए-आज़म (प्रधान मंत्री)और कांग्रेस-ओ-बी जे पी पार्टी सदूर की रिहायशगाह के रूबरू एहितजाजी मुज़ाहरा करने पर हिरासत में ले लिया गया। कोयला बलॉकतख़सीस के मसला पर ये एहितजाजी मुज़ाहरा किया गया था।

तमाम 6 अरविंद केजरीवाल, मनीष सीसोडीह, गोपाल राय, कुमार विश्वास, संजय सिंह और दीगर एक शख़्स को तक़रीबन एक घंटे तक मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन में रखने के बाद रिहा कर दिया गया।

साबिक़(पूर्व) टीम अन्ना के अरकान और उन के हामीयों ने एहितजाजी धरना मुनज़्ज़म करते हुए पुलिस को उन्हें ले जाने से रोक दिया था। केजरीवाल और गोपाल को वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह की रिहायश गाह के बाहर हिरासत में लिया गया जबकि ससोडी और विश्वास को सदर कांग्रेस सोनीया गांधी की रिहायश गाह 10 जनपथ के बाहर गिरफ़्तार किया गया।

इन एहितजाजियों के तर्जुमान ने कहा कि आख़िर हम ऐसा किया ग़लत कर रहे हैं , हमें एहितजाजी मुज़ाहिरे के हक़ से भी क्यों महरूम किया जा रहा है। हम सिर्फ फुटपाथ पर ख़ामोशी से बैठे हुए हैं। हमें हिरासत में लेने की आख़िर वजह बताई जानी चाहीए।

उन्हों ने कहा कि इमतिनाई अहकामात की ख़िलाफ़ वरज़ी भी नहीं की गई क्योंकि इस मुक़ाम तक सिर्फ दो अफ़राद पहूंचे थे। उन्हों ने बताया कि जब राज ठाकरे एहतिजाज की इजाज़त के बगै़र हज़ारों हामीयों को जमा करते हैं तो पुलिस उन्हें तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करती है।

आख़िर ये कैसी सियासत है ? केजरीवाल ने कहा कि हम दुबारा घेराव करेंगे और कांग्रेस और बी जे पी को पयाम पहूँचाना चाहते हैं। इस दौरान वसती दिल्ली में छः मेट्रो स्टेशन को एहतिजाज के पेशे नज़र स्कियोरटी वजूहात की बिना बंद करने का ऐलान किया गया था लेकिन दिन में उन्हें अवाम के लिए खोल दिया गया।

TOPPOPULARRECENT