Tuesday , October 17 2017
Home / Khaas Khabar / मर्कज़ तेलंगाना मसले को हल करने के मौक़िफ़ में नहीं

मर्कज़ तेलंगाना मसले को हल करने के मौक़िफ़ में नहीं

कांग्रेस के तेलंगाना अरकान पार्लीमान जो ये दावा कररहे हैं कि उन्हों ने मर्कज़ पर दबाव‌ डालते हुए कुल जमाती मीटिंग तलब करवाया है, इन अरकान असेंबली को चाहीए कि वो दुबारा मर्कज़ पर दबाव‌ डालते हुए तेलंगाना मसले का मुस्तक़िल हल निकलवाई

कांग्रेस के तेलंगाना अरकान पार्लीमान जो ये दावा कररहे हैं कि उन्हों ने मर्कज़ पर दबाव‌ डालते हुए कुल जमाती मीटिंग तलब करवाया है, इन अरकान असेंबली को चाहीए कि वो दुबारा मर्कज़ पर दबाव‌ डालते हुए तेलंगाना मसले का मुस्तक़िल हल निकलवाईं।

रुकन असेंबली तेलगुदेशम ए रेवन्त रेड्डी ने आज ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत के दौरान ये बात कही। उन्हों ने बताया कि मर्कज़ी हुकुमत ने हर सयासी जमात से दो नुमाइंदों को मदऊ करते हुए ये पैग़ाम दे दिया है कि मर्कज़ अब भी मसले का कोई हल निकालने के मौक़िफ़ में नहीं है।

रेवन्त रेड्डी ने मर्कज़ को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि वज़ारत-ए-दाख़िला ने अरकान पार्लीमान की ख़ाहिश पर कुल जमाती मीटिंग की तलबी के एलान को मज़हकाख़ेज़ और हुकूमत की ग़ैर संजीदगी की मिसाल क़रार देते हुए कहा कि इस से ये साबित होता है कि मर्कज़ी हुकूमत और कांग्रेस तेलंगाना अवाम और क़ाइदीन को सिर्फ़ इस्तेमाल कररही हैं

उन्हों ने कहा कि मर्कज़ की तरफ से मीटिंग की तलबी के बाद ही तेलगुदेशम ये एलान करचुकी है कि तेलगुदेशम पोलीट ब्यूरो में मौक़िफ़ के मुताल्लिक़ और मीटिंग में शिरकत करने वाले क़ाइद के मुताल्लिक़ फ़ैसला किया जाएगा।

रेवन्त रेडडी ने बताया कि वाई एस आर कांग्रेस की तरफ से तेलगुदेशम अरकान राज्य सभा की एफडी आई मसले पर राय दही में अदम शिरकत को जिस अंदाज़ से उछाला जा रहा है वो दुरुस्त नहीं है।

उन्हों ने बताया कि ये सवाल करने से पहले वाई एस आर कांग्रेस को चाहीए कि वो अवाम को इस बात का जवाब दें कि आख़िर
सदारती चुनाव में परनब मुखेर्जी को वाई एस आर कांग्रेस ने किस हैसियत से वोट दिया था।

कांग्रेस के सदारती उम्मीदवार की हिमायत के लिए किया सौदेबाज़ी की गई थी, इस बात को अवाम के सामने लाने की ज़रूरत है चूँके वाई एस आर कांग्रेस ने कांग्रेस से बज़ाहिर इख़तिलाफ़ात के बावजूद कांग्रेस के सदारती उम्मीदवार के हक़ में अपने वोट का इस्तिमाल किया जो इस बात का सबूत है कि कांग्रेस और वाई एस आर कांग्रेस एक सिक्का के दो रुख़ हैं।

उन्हों ने बताया कि वाई एस आर कांग्रेस में मौजूद क़ाइदीन का वीज़न सिर्फ़ और सिर्फ़ इक़तिदार है उन्हें मसाले से कोई दिलचस्पी नहीं है। क़ाइदीन को अवामी मसाइल से ज़्यादा पार्टी सदर की जेल से रिहाई की फ़िक्र है।

रेवन्त रेड्डी ने तेलगुदेशम के तीन अरकान राज्य सभा की राय दही में अदम शिरकत को मौज़ू बेहस ना बनाने का मश्वरा दिया कि इस मसले को ग़ैर ज़रूरी ना उछालीं चूँके अरकान पार्लीमान ने पार्टी सदर और अवाम के सामने वज़ाहत पेश करदी है।

TOPPOPULARRECENT