Sunday , August 20 2017
Home / World / मशरिक़े वुस्ता में तनाज़आत का फ़ौजी हल नामुमकिन

मशरिक़े वुस्ता में तनाज़आत का फ़ौजी हल नामुमकिन

U.S. soldiers, left, participate in a training mission with Iraqi army soldiers outside Baghdad, Iraq, Wednesday, May 27, 2015. Islamic State extremists unleashed a wave of suicide attacks targeting the Iraqi army in western Anbar province, killing at least 17 troops in a major blow to government efforts to dislodge the militants from the sprawling Sunni heartland, an Iraqi military spokesman said Wednesday. (AP Photo/Khalid Mohammed)

अमरीका के मर्कज़ी खु़फ़ीया इदारे सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सी आई ए) के सरब्राह जॉन ब्रेनन ने कहा है कि मशरिक़े वुस्ता के बाअज़ हिस्सों में जारी तनाज़आत का फ़ौजी हल नामुमकिन है।

उनका कहना है कि बाअज़ ममालिक की मौजूदा सूरते हाल को देखते हुए मुस्तक़बिल में मोअस्सर मर्कज़ी हुकूमतों के क़ियाम की तस्वीर धुँदली नज़र आ रही है। जॉन ब्रेनन वाशिंगटन में मुनाक़िदा एक कान्फ़्रैंस में तक़रीर कर रहे थे। इस कान्फ़्रैंस में दूसरे सिक्यूरिटी ओहदेदारों और सनअती माहिरीन ने भी गुफ़्तगु की है।

ब्रेनन ने कहा कि जब मैं लीबिया, शाम, इराक़ और यमन की जानिब देखता हूँ तो मेरे लिए इन ममालिक में एक ऐसी मर्कज़ी हुकूमत का तसव्वुर करना भी मुश्किल है जो दूसरी आलमी जंग के बाद माज़ी में खींची गई सरहदों के मुताबिक़ इन मुल्कों में अपना कंट्रोल और अथार्टी क़ायम कर सके।

TOPPOPULARRECENT