Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / मसला तेलंगाना , तमाम तर मुतबादिल इक़दामात से जुदा

मसला तेलंगाना , तमाम तर मुतबादिल इक़दामात से जुदा

हैदराबाद । 17 नवंबर ( सियासत न्यूज़) तेलंगाना पोलीटिक्ल कमेटी के सदर नशीन प्रोफ़ैसर कोदंडाराम ने ऐलान किया कि अंदरून 3यौम एहितजाजी हिक्मत-ए-अमली का ऐलान किया जाएगा । जिस के ज़रीया अलहदा तेलंगाना तहरीक में शिद्दत पैदा की जाएगी । कोदं

हैदराबाद । 17 नवंबर ( सियासत न्यूज़) तेलंगाना पोलीटिक्ल कमेटी के सदर नशीन प्रोफ़ैसर कोदंडाराम ने ऐलान किया कि अंदरून 3यौम एहितजाजी हिक्मत-ए-अमली का ऐलान किया जाएगा । जिस के ज़रीया अलहदा तेलंगाना तहरीक में शिद्दत पैदा की जाएगी । कोदंडराम ने बताया कि पोलीटिक्ल जवाइंट ऐक्शण कमेटी का बहुत जल्द इजलास मुनाक़िद होगा जिस में एहितजाजी प्रोग्राम को क़तईयत दी जाएगी ।

उन्हों ने तेलंगाना राष़्ट्रा समीती की जानिब से शुरू की गई तेलंगाना साधना पदयात्रा की ताईद की और कहा कि इस पदयात्रा के ज़रीया अवाम में शऊर बेदार करने की कोशिश की जा रही है ।इस के इलावा सयासी जमातों के मौक़िफ़ से अवाम को वाक़िफ़ किराया जाएगा । प्रोफ़ैसर कोदंडाराम ने कहा कि तेलंगाना अवाम दुबारा एहतिजाज के हक़ में हैं और वो चाहते हैं कि मर्कज़ की जानिब से किसी वाज़िह ऐलान तक इस पर दबाॶ बरक़रार रखा जाय ।सदर नशीन जे ए सी ने तेलंगाना के अवामी नुमाइंदों पर तन्क़ीद की कि वो दोहरा मयार इख़तियार किए हुए हैं ।

वो ज़बानी तौर पर अलहदा तेलंगाना की ताईद तो करते हैं लेकिन इस के लिए अस्तीफ़ा देने तैय्यार नहीं । तेलंगाना के अवामी नुमाइंदों को अपने अमल के ज़रीया ताईद का इज़हार करना चाहीए ।कोदंडाराम ने उत्तरप्रदेश की चीफ़ मिनिस्टर मायावती के इस फ़ैसले का ख़ौरमक़दम किया कि उत्तरप्रदेश को चार हिस्सों में तक़सीम करदिया जाएगा । काबीना में इस सिलसिला में क़रारदाद मंज़ूर की गई और उत्तरप्रदेश असमबली इजलास के पहले दिन इस क़रारदाद को मंज़ूर करते हुए मर्कज़ को रवाना किया जाएगा ।

उन्हों ने कहा कि मायावती ने छोटी रियास्तों में जो फ़वाइद ब्यान किए हैं वो बिलकुल दरुस्त है और तेलंगाना तहरीक के दौरान जय ए सी और दीगर क़ाइदीन इसी बुनियादों पर छोटी रियास्तों को अवाम के हक़ में क़रार दे रहे हैं । उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर बिहार नतीश कुमार की जानिब से छोटी रियास्तों के क़ियाम की ताईद का ख़ौरमक़दम किया है । कोदंडाराम ने कहा कि बारहा तौर पर मर्कज़ को वाक़िफ़ किराया गया कि बड़ी रियास्तें अवाम की भलाई के इक़दामात नहीं कर सकतीं लिहाज़ा बेहतर नज़म-ओ-नसक़ केलिए छोटी रियास्तों का क़ियाम नागुज़ीर है ।

उन्हों ने तेलंगाना अरकान असमबली और पार्लीमैंट के अस्तीफ़े क़बूल ना किए जाने पर शदीद रद्द-ए-अमल का इज़हार किया और कहा कि सीमा आंधरा क़ाइदीन के दबाव मैं अस्तीफ़ों को मुस्तर्द करदिया गया है । उन्हों ने कहा कि सीमा आंधरा क़ाइदीन हर सूरत में तेलंगाना की तशकील को रोकना चाहते हैं इस के लिए वो दस्तूर और क़ानून की ख़िलाफ़वरज़ी करने तैय्यार हैं ।

मर्कज़ की जानिब से दूसरे ऐस आर सी के क़ियाम से मुताल्लिक़ इत्तिलाआत पर तबसरा करते हुए कोदंडाराम ने कहा कि अलहदा रियासत के इलावा कोई भी तजवीज़ काबिल-ए-क़बूल नहीं होगी ।उन्हों ने कहा कि तरक़्क़ीयाती पिया केज या फिर कौंसल के क़ियाम की बातें अफ़सोसनाक हैं ।

तेलंगाना मसला इन तमाम मुतबादिल इक़दामात से जुदागाना है । तेलंगाना मसला का जायज़ा लेने केलिए पहले ही जस्टिस सिरी कृष्णा कमेटी क़ायम की जा चुकी है जिस ने मर्कज़ को अपनी रिपोर्ट पेश करदी । इस के बावजूद दुबारा ऐस आर सी या दूसरे मुतबादिल पेश करना अफ़सोसनाक है। उन्हों ने इंतिबाह दिया कि तेलंगाना अवाम के जज़बात नजरअंदाज़ करने की सूरत में दुबारा एहतिजाज शिद्दत इख़तियार करलेगा ।

उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी को भी तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि वो तहरीक को कमज़ोर करने की कोशिश कररहे हैं और तेलंगाना से वाबस्ता क़ाइदीन और तंज़ीमों में फूट पैदा करने की कोशिश की जा रही है । प्रोफ़ैसर कोदंडाराम ने तेलगुदेशम तेलंगाना क़ाइदीन से मुतालिबा किया कि वो मुत्तहदा आंधरा के हामी चंद्रा बाबू नायडू के चंगुल से आज़ाद होजाएं और अवामी तहरीक में अपने आप को शामिल करलें ।

TOPPOPULARRECENT