Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / मसला तेलंगाना पर अनक़रीब चन्द्र शेखर राव के मरण बरत का आग़ाज़

मसला तेलंगाना पर अनक़रीब चन्द्र शेखर राव के मरण बरत का आग़ाज़

हैदराबाद 20 अक्टूबर ( सियासत न्यूज़) तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के रुकन असैंबली के तारिक रामा राव ने इन्किशाफ़ किया कि अलहदा तेलंगाना मसला पर मर्कज़ को ऐलान के लिए मजबूर करने सदर टी आर ऐस चन्द्र शेखर राव बहुत जल्द मरण बरत का आग़ाज़ करेंग

हैदराबाद 20 अक्टूबर ( सियासत न्यूज़) तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के रुकन असैंबली के तारिक रामा राव ने इन्किशाफ़ किया कि अलहदा तेलंगाना मसला पर मर्कज़ को ऐलान के लिए मजबूर करने सदर टी आर ऐस चन्द्र शेखर राव बहुत जल्द मरण बरत का आग़ाज़ करेंगे ।

अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए रामा राव ने कहा कि तेलंगाना मसला पर मर्कज़ के रवैय्या से नाराज़ पार्टी सदर मरण बरत केलिए तैय्यार हैं और वो बहुत जल्द तारीख़ का ऐलान करेंगे । उन्हों ने बताया कि ख़राबी सेहत के बावजूद चन्द्र शेखर राव मरण बरत के आग़ाज़ पर मिस्र हैं ।

उन्हों ने मर्कज़ के रवैय्या को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि जब भी तलंगाना का मसला क़तई मरहला में दाख़िल होता है तो मर्कज़ी हुकूमत मुज़ाकरात का बहाना बनाकर मसला को टालने की कोशिश करती है । तेलंगाना मुलाज़मीन की एक माह से ज़ाइद हड़ताल के बावजूद मर्कज़ी हुकूमत ख़ामोशी इख़तियार किए हुए ही। रामा राव ने अलहदा तलंगाना की ताईद में बी जे पी क़ाइद ईल के अडवानी के ब्यान का ख़ौरमक़दम किया ।

उन्हों ने कहा कि इन डी ए दौर-ए-हकूमत में तीन रियास्तें झारखंड छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड तशकील दी गई लेकिन इस पर मुल्क में कहीं भी गड़बड़ नहीं हुई और ना ही मुल़्क की सलामती को नुक़्सान पहुंचा । फिर तेलंगाना के बारे में इस तरह के ख़दशात का इज़हार क्यों किया जा रहा है । उन्हों ने कहाकि तेलंगाना की तशकील को रोकने केलिए कई बहाने तलाश किए जा रहे हैं ।

के टी आर ने अडवानी के इस ब्यान का भी ख़ौरमक़दम किया कि तेलंगाना तशकील केलिए असैंबली में क़रारदाद की मंज़ूरी ज़रूरी नहीं है । एन डी ए दौर में तीन रियास्तों की तशकील के वक़्त बाअज़ रियास्तों के चीफ़ मिनिस्टर्स ने मुख़ालिफ़त की थी लेकिन असैंबली क़रारदाद के बगै़र ही पार्लीमैंट में नई रियास्तों के क़ियाम को मंज़ूरी दी गई । उन्हों ने कहा कि 37दिन से आम हड़ताल जारी है लेकिन मर्कज़ी हुकूमत बेहिसी का रवैय्या इख़तियार किए हुए है ।

उन्हों ने कहा कि एल के अडवानी का तेलंगाना के बारे में वाज़िह ब्यान काबिल-ए-सिताइश है और उन डी ए हुकूमत ने क़ाइदीन की मुख़ालिफ़त की परवाह किए बगै़र अवामी जज़बात का एहतिराम करते हुए तीन रियास्तें तशकील दी थी ।

उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि मुल़्क की तमाम क़ौमी जमातों की जानिब से अलहदा तेलंगाना की ताईद के बावजूद यू पी ए हुकूमत तलंगाना की तशकील केलिए तैय्यार नहीं है । उन्हों ने कहा कि मर्कज़ी हुकूमत को चाहीए कि वो तेलंगाना मसला को मज़ीद पेचीदा बनाने के बजाय पार्लीमैंट के मुजव्वज़ा सरमाई इजलास में तलंगाना बिल पेश करे एन डी ए ने बल की ताईद का यक़ीन दिलाया है । इस तरह तलंगाना बल की नाकामी का सवाल ही पैदा नहीं होता । रामा राव ने कहा कि तलंगाना बिल पार्लीमैंट में सादा अक्सरीयत से भी मंज़ूर हो सकता है ।

उन्होंने एल के अडवानी के ख़िलाफ़ सीमा आंधरा क़ाइदीन के ब्यानात की मुज़म्मत की जिस में उन्हों ने कहा कि तेलंगाना मसला पर अवामी ताईद हासिल करने अडवानी तलंगाना का दौरा कररहे हैं । उन्हों ने रियास्ती वज़ीर शलीजा नाथ के इस इल्ज़ाम को बेबुनियाद क़रार दिया कि ईल के अडवानी अवाम में फूट डालने केलिए तलंगाना की ताईद कर रहे हैं । टी आर ऐस रुकन असैंबली ने कहाकि जिन जमातों ने अभी तक अलहदा तलंगाना के हक़ में फ़ैसला नहीं किया है उन्हें फ़ौरी अपने मौक़िफ़ का ऐलान करना चाहीए ।

TOPPOPULARRECENT