Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / मसला तेलंगाना पर सीमा आंधरा और तेलंगाना वालों में सदभावन ज़रूरी

मसला तेलंगाना पर सीमा आंधरा और तेलंगाना वालों में सदभावन ज़रूरी

हैदराबाद 20 अक्तूबर (सियासत न्यूज़) साबिक़ सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर डी श्रीनिवास ने कहा कि दुनिया में अमन-ओ-अमान और मुहब्बत ही सब से बड़ी दौलत है, ताहम हालिया दिनों अवाम के दरमयान दूरियां और रंजिशें बढ़ रही हैं और मुहब्बत कम ह

हैदराबाद 20 अक्तूबर (सियासत न्यूज़) साबिक़ सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर डी श्रीनिवास ने कहा कि दुनिया में अमन-ओ-अमान और मुहब्बत ही सब से बड़ी दौलत है, ताहम हालिया दिनों अवाम के दरमयान दूरियां और रंजिशें बढ़ रही हैं और मुहब्बत कम हो रही है।

तेलंगाना का मसला हल करने के लिए तलंगाना और सीमा आंधरा वालों में सदभावना वक़्त का अहम तक़ाज़ा है। आज राजीव गांधी सदभावना यादगार कमेटी के ज़ेर-ए-एहतिमाम तारीख़ी चारमीनार के दामन में मुनाक़िदा तक़रीब से ख़िताब करते हुए मिस्टर डी सरीनवास ने इन ख़्यालात का इज़हार किया। इस मौक़ा पर कांग्रेस के अरकान-ए-पार्लीमैंट डाक्टर के केशव राव , मिस्टर एम ए ख़ान सैक्रेटरी ए आई सी सी-ओ-रुकन क़ानूनसाज़ कौंसल मिस्टर पी सुधाकर रेड्डी, कांग्रेस के रुकन असैंबली मिस्टर नंदेश्वर गौड़, कारपोरीटर मिस्टर ऐस मुहम्मद वाजिद हुसैन, जनरल सैक्रेटरी प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर आनंद भास्कर, कांग्रेस के क़ाइदीन बाला पूच्या, डाक्टर एम ए अंसारी, मुहम्मद मौसी के इलावा दीगर क़ाइदीन भी मौजूद थे ।

जब कि सदर नशीन राजीव गांधी सदभावना यादगार कमेटी-ओ-जनरल सैक्रेटरी प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर जी निरंजन ने सदारत की। इस मौक़ा पर पदमा भूषण डाक्टर आबिद हुसैन और डाक्टर वे उन वाघरे को राजीव गांधी एवार्ड्स पेश किए गए।

डाक्टर आबिद हुसैन के ग़ियाब में उन के भाई तुराब उल-हसन ने ऐवार्ड हासिल किया। डी श्रीनिवास ने कहा कि आंधरा प्रदेश की तशकील से आज तक अवाम अलहदा रियासत का मुतालिबा कर रहे हैं, लिहाज़ा अवामी जज़बात का एहतिराम ज़रूरी है।

हालात मज़ीद ख़राब होने से क़बल अलहदा तेलंगाना रियासत का फ़ैसला हो जाना चाआई। डाक्टर के केशव राव ने कहा कि हैदराबाद हिन्दू-मुस्लिम इत्तिहाद का गहवारा ही, अगर एक इंसान दूसरे इंसान को पहचाने तो यही ससदभावना है ।

कांग्रेस के रुकन राज्य सभा मिस्टर एम ए ख़ान ने कहा कि अडवानी की ज़हरीली रथ यात्रा के बाद जब सारा मुल़्क फ़िर्कावाराना फ़सादाद की लपेट में था, उस वक़्त अमन-ओ-अमान का पैग़ाम पहुंचाने के लिए आँजहानी राजीव गांधी ने सदभावना यात्रा का एहतिमाम किया था।

बदउनवानीयों के ख़िलाफ़ रथ यात्रा शुरू करने वाले अडवानी पहले अपने घर (बी जे पी) में झांक कर देख लें, साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर और साबिक़ वज़ीर बदउनवानीयों के इल्ज़ामात का सामना करते हुए जेल की सलाखों के पीछे हैं।

मिस्टर पी सुधाकर रेड्डी ने कहा कि बदउनवानीयों के ख़िलाफ़ अडवानी अगर बिहार की बजाय कर्नाटक से यात्रा शुरू करते तो बेहतर था। अब अगर वो अपने यात्रा पर हैदराबाद पहुंच गए हैं तो उन्हें बी जे पी के साबिक़ सदर मिस्टर बंगारू लक्ष्मण के घर पहुंच कर मुलाक़ात करना चाआई, जो दो लाख रुपय रिश्वत क़बूल करते हुए कैमरे में क़ैद हुए थे।

कांग्रेस को ख़तम करने वाला आज तक कोई पैदा नहीं हुआ। सैक्रेटरी प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर सय्यद यूसुफ़ हाश्मी ने ख़िताब करते हुए कहा कि 1990 -ए-में जब मुल़्क फ़िर्कावाराना फ़सादाद में डूब चुका था, तब राजीव गांधी ने फ़िर्कावाराना हम आहंगी पैदा करने के लिए सदभावना यात्रा का आग़ाज़ किया था।

राजीव गांधी के क़त्ल के बाद हर साल राजीव गांधी सदभावना यादगार कमेटी तक़रीब का इनइक़ाद करते हुए अमन-ओ-अमान का पैग़ाम पहुंचाने वाली अहम शख़्सियतों को राजीव गांधी ऐवार्ड से नवाज़ा जाता है।

TOPPOPULARRECENT