Wednesday , October 18 2017
Home / Bihar News / मस्जिद का पिलर तोड़ने से इलाक़े में खौफ का माहौल

मस्जिद का पिलर तोड़ने से इलाक़े में खौफ का माहौल

ज़िला के अकंगर सराय ब्लॉक मातहत बरसियावां गाँव में मस्जिद की तमीरी काम के दौरान पिलर तोड़ने व काम बंद कराने के दौरान हुये मारपीट में अक्लियती फिरके के 2 लोग शदीद तौर पर ज़ख्मी हो गए। इस मुतालिक एक मामला मुक़ामी थाने में दर्ज़ कराया गया ह

ज़िला के अकंगर सराय ब्लॉक मातहत बरसियावां गाँव में मस्जिद की तमीरी काम के दौरान पिलर तोड़ने व काम बंद कराने के दौरान हुये मारपीट में अक्लियती फिरके के 2 लोग शदीद तौर पर ज़ख्मी हो गए। इस मुतालिक एक मामला मुक़ामी थाने में दर्ज़ कराया गया है। साथ ही इस हरकत से गाँव में खौफ का माहौल है। इसकी इत्तिला देते हुये अकंगर सराय के मोहम्मद आबिद ने बताया की बरसियावां गाँव में नए मस्जिद की तामीरी काम के लिए पिलर लगाए गए थे। पिलर का काम करीब करीब मुकाममिल होने के बाद मिस्तरी चले गए थे। उनके जाने के बाद गाँव के ही देवानन्द वालिद रामधन यादव और लालू कुमार वालिद प्रभाकर ने पिलर तोड़ दिया। इस दौरान गाँव के ही मोहम्मद सद्दाम और मोहम्मद इस्राफिल ने देखा और उसकी मुदाखिलत की जिसके बाद उन दोनों नौजवानों ने कहा की काम नहीं होने देंगे। इस बात को लेकर कुछ बहस हुयी जिसके बाद दोनों ने मोहम्मद सद्दाम और मोहम्मद इस्राफिल की पिटाई कर दी । जिसकी वजह से इसराफिल का हाथ टूट गया। उन दोनों नौजवानों ने कहा की चाहे जो होगा मैं किसी भी कीमत पर मस्जिद नहीं बनने दूंगा। जहां जाना है जाओ मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता।

उन्होने बताया की इस मामले की इत्तिला एसपी नालंदा और डीएसपी हिलसा को दी गयी और दोनों अफ़सरान ने मामले को देखने के बाद अक्लियती फिरके को हिदायत दी के आप लोग दोनों के खिलाफ थाने में मामला दर्ज़ कराएं कार्रवाई होगी। मोहम्मद आबिद ने बताया की यकीन दिहानी के बाद थाने में मामला दर्ज़ कराया गया है। उन्होने बताया की इस गाँव में मस्जिद नहीं रहने की वजह से दुश्वारी हो रही है थी जिसकी वजह से ज़मीन की ख़रीदारी करके मस्जिद तामीर का काम शुरू कराया गया। मगर इस मामले के बाद लोगों में डरे सहमे हुये हैं। ये भी कहा जाता है की जिस वक़्त पिलर तोड़ा गया इस वक़्त दोनों शराब के नशे में थे।

वाजेह हो की रियासत के पुर अमन माहौल को कुछ लोग आग की भेंट चढ़ाने की हर मुमकिन कोशिश में लगे रहते हैं। और आए दिन कोई न कोई ऐसी हरकत करते हैं जिससे रियासत की पुरअमन फिजा में जहर घोला जाए। लेकिन ये तो अक्लियती फिरका के लोगों के सब्र का असर है की रियासत में बदअमनी फैलाने वाले अनासिर अपने मक़सद में कामियाब नहीं हो रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT