Thursday , August 17 2017
Home / India / महंगाई पर क़ाबू पाने करूणानिधि का मुतालिबा

महंगाई पर क़ाबू पाने करूणानिधि का मुतालिबा

चेन्नई: डीएमके ने आज पेट्रोल और डीज़ल पर एक्साइज़ डयूटी पर इज़ाफे की मुख़ालिफ़त की है और ये मुतालिबा किया है कि आलमी मार्किट में कमी बेशी के मुताबिक़ पेट्रोलियम मसनूआत की क़ीमत को हम-आहंग किया जाये। पार्टी सदर एम करूणानिधि ने मर्कज़ की जानिब से एक्साइज़ डयूटी पर बार-बार नज़रेसानी पर हैरत-ओ-इस्तिजाब का इज़हार किया और आलमी मार्किट में ख़ाम तेल की क़ीमत में गिरावट के बावजूद मुल्क में पेट्रोल और डीज़ल की क़ीमत में बुरा-ए-नाम कमी पर तन्क़ीद की और बताया कि ऑयल मार्किटिंग कंपनियां जब भी आलमी मार्किट में ख़ाम तेल की क़ीमत में इज़ाफ़ा होता है तो यहां पर भी शरहों में इज़ाफ़ा कर दिया जाता है लेकिन ग़ैरमामूली गिरावट की सूरत में बुरा-ए‍-नाम 50 ता 60 पैसे की कमी कर दी जाती है।

मिस्टर करूणानिधि ने कल पेट्रोल की क़ीमत में फ़ी लीटर 32 पैसे और डीज़ल की क़ीमत में फ़ी लीटर 85 पैसे कमी का हवाला देते हुए कहा कि इस ऐलान के साथ ही हुकूमत ने एक्साइज़ डयूटी में इज़ाफ़ा कर दिया। इन्होंने कहा कि गुज़िश्ता साल भी एक्साइज़ डयूटी में5 मर्तबा इज़ाफ़ा कर दिया गया जबकि पैट्रोल और डीज़ल की क़ीमत बिलतर्तीब10 और6 मर्तबा कम कर दी गई लेकिन क़ीमतों में कोई ख़ास फ़र्क़ नहीं रहा।

जिसके नतीजे में अश्या-ए‍-ज़रुरिया की क़ीमतों में इज़ाफ़ा हो रहा है। अगर पेट्रोलियम मसनूआत की क़ीमतें घटादि गईं तो महंगाई में भी कमी वाक़्य हो जाएगी|

TOPPOPULARRECENT