Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / महंगाई में बेतहाशा इज़ाफ़ा का इम्कान , अक़ल्लीयतों के लिए 3135 करोड़ मुख़तस

महंगाई में बेतहाशा इज़ाफ़ा का इम्कान , अक़ल्लीयतों के लिए 3135 करोड़ मुख़तस

इफ़रात-ए-ज़र की शरह में मज़ीद इज़ाफ़ा के अनुदेशों वाला बजट पेश करते हुए वज़ीर फ़ैयनेंस मिस्टर परनब मुकर्जी ने आज तमाम ही शोबा जात में एक्साइज़ ड्यूटी और सर्विस टैक्स में दो फीसद का इज़ाफ़ा किया है जिसके नतीजा में हुकूमत को 45,940 करोड़ रुपये

इफ़रात-ए-ज़र की शरह में मज़ीद इज़ाफ़ा के अनुदेशों वाला बजट पेश करते हुए वज़ीर फ़ैयनेंस मिस्टर परनब मुकर्जी ने आज तमाम ही शोबा जात में एक्साइज़ ड्यूटी और सर्विस टैक्स में दो फीसद का इज़ाफ़ा किया है जिसके नतीजा में हुकूमत को 45,940 करोड़ रुपये का इज़ाफ़ी मालिया होगा ताहम हुकूमत ने शख़्सी इनकम टैक्स अदा करने वाले अफ़राद को कुछ राहत दी है जिस के नतीजा में हुकूमत पर 4,500 करोड़ रुपय का बोझ आइद होगा ।

हुकूमत ने जहां तमाम अहम शोबा जात में एक्साइज़ ड्यूटी और सर्विस टैक्स में 2 फीसद का इज़ाफ़ा किया है वहीं शख़्सी इनकम टैक्स अस्तासनी की हद को 1.80 हज़ार रुपय से बढ़ाते हुए दो लाख रुपय कर दिया है । हुकूमत ने मनफ़ी फ़हरिस्त में शामिल 17 ख़िदमात के सिवा तमाम ही ख़िदमात पर भी टैक्स लागू कर दिया है । आज पेश कर्दा बजट तजावीज़ में अवाम को जहां कुछ मुराआत फ़राहम की गई हैं वहीं बाअज़ एशिया पर मुहासिल में इज़ाफ़ा किया गया है जिससे आम आदमी की जेब मज़ीद हल्की भी हो सकती है ।

आज पेश कर्दा बजट तजावीज़ के नतीजा में जो अशिया महंगी होंगी इनमें दो पहिया गाड़ियां कारें तिजारती गाड़ियां रेफ्रीजरेटर्स एयर कंडीशनर वाशिंग मशीन घड़ियां साबुन कॉस्मेटिक्स घरेलू सजावट की एशिया सिगरेट बीड़ी पैकेज ग़िज़ाई अशिया पान मसाला तंबाकू गैर मारूफ़ कीमती धाती ज़ेवरात इंपोर्टेड लग्जरी गाड़ियां इंपोर्टेड सायकिलें और सायकिल के पार्ट्स इंपोर्टेड डीजीटल तस्वीरी कैमरे इंपोर्टेड सोने के बिस्कुट और कुछ ज़मरों के सिक्के प्लेटिनम इंपोर्टेड तराशीदा और पाश किए गए कीमती पत्थर फ़िज़ाई सफ़र होटलों में खाना और होटलों में क़ियाम शामिल हैं ।

ताहम आज की तजावीज़ से जो एशिया सस्ती हो सकती हैं इनमें मोबाईल फ़ोन के पार्ट्स ब्रांडेड चांदी के ज़ेवरात ब्रांडेड मलबूसात इंपोर्टेड एल सी डी और एल ई डी टी वी पैनल्स ( जो 20 इंच से ज़्यादा हो ) 500 रुपये से कम लॉगती जूते और चप्पल बालिग़ों के डाइपर्स सोया प्रोटीन ग़िज़ाई अशिया प्रो बायोटिक़्स लिखने में इस्तेमाल होने वाली एशिया और इंपोर्टेड तिब्बी आलात शामिल हैं। हुकूमत ने शख़्सी इनकम टैक्स असतसनी की हद में मामूली इज़ाफ़ा किया है जबकि सर्विस टैक्स और स्टैंडर्ड एक्साइज़ ड्यूटी में ब हैसियत मजमूई 2 फीसद का इज़ाफ़ा कर दिया है जिसके नतीजा में सरकारी ख़ज़ाना को 41,440 करोड़ रुपये का इज़ाफ़ी मालिया हासिल हो सकता है ।

साल 2012 – 13 का बजट आज वज़ीर फ़ै नानिस मिस्टर परनब मुकर्जी ने लोक सभा में पेश किया । बजट में जहां कॉरपोरेट टैक्स की शरह और आज़म तरीन कस्टम्स ड्यूटी की शरह में कोई तब्दीली नहीं की गई वहीं सोने के टुकड़ों और प्लेटीनम के इलावा सिगरेट बीड़ी पान मसाला और तंबाकू पर इम्पोर्ट ड्यूटी में इज़ाफ़ा कर दिया गया है जिसके नतीजा में ये तमाम आशिया अब महँगी हो जाएंगी । इसके इलावा एस यू वी और एम यू वी नवीत की मुकम्मल तैयार कर्दा कारों पर जिनकी कीमत 20 लाख रुपये से ज़्यादा हो उन पर भी कस्टम्स ड्यूटी में इज़ाफ़ा कर दिया गया है ।

हुकूमत को रास्त मुहासिल तजावीज़ के नतीजा में 4,500 करोड़ रुपये का नुक़्सान होगा जब कि बिलवास्ता मुहासिल की तजावीज़ के नतीजा में 45,940 करोड़ रुपये की आज़दनी होगी इस तरह उन तजावीज़ के नतीजा में हुकूमत को जुमला 41,440 करोड़ रुपये की इज़ाफ़ी आमदनी होगी। इस के इलावा हुकूमत की जानिब से दिफ़ाई बजट में इज़ाफ़ा भी किया गया है ।

अब दिफ़ाई बजट 1,93,407 करोड़ रुपये कर दिया गया है जिन में 79,579 करोड़ रुपये कैपीटल अख़राजात भी शामिल हैं। इस तरह दिफ़ाई बजट में जुमला 17 फीसद का इज़ाफ़ा किया गया है । ये इज़ाफ़ा जारीया साल इंडियन एयरफ़ोर्स के लिए 126 लड़ाका तय्यारे खरीदने के लिए फ़राहम किया गया है । वज़ीर फायनेंस मिस्टर परनब मुकर्जी ने कहा कि ये बजट मौजूदा ज़रूरियात की बिना पर मुख़तस किया गया है और इसमें मज़ीद ज़रूरियात का भी ख़्याल रखा जाएगा।

बजट तजावीज़ के मुताबिक़ शख़्सी इनकम टैक्स असतसनी की हद को 1.80 हज़ार रुपये से बढाकर दो लाख रुपय कर दिया गया है । दोता पाँच लाख रुपये की आमदनी पर 10 फीसद टैक्स आइद होगा ताहम पाँच लाख से ज़्यादा और दस लाख से कम पर 20 फीसद और 10 लाख से ज़्यादा आमदनी पर 30 फीसद टैक्स आइद किया जाएगा। इस के इलावा बजट में शख़्सी टैक्स दहिंदगान को सेविंग्स बैंक एकाउंटस से शरह सूद पर 10 हज़ार रुपय तक कटौती की सहूलत भी फ़राहम की गई है जिस से पाँच लाख रुपय तक आमदनी वाले तनख़्वाह याब तबक़ा को ज़बरदस्त फ़ायदा हो सकता है की उनका उन्हें इसी सूरत में इनकम टैक्स रिटर्नस दाख़िल करने की ज़रूरत नहीं होगी । मौजूदा कटौती हद में सेहत इंश्योरेंरंस शामिल है ।

वज़ीर मौसूफ़ ने बताया कि अब पाँच हज़ार रुपये तक एहतियाती सेहत चेक अप की कटौती की तजवीज़ भी शामिल की गई है । बजट तजावीज़ के मुताबिक़ जिन से नर सिटीज़ंस ( मुअम्मर अफ़राद ) को किसी कारोबार से कोई आमदनी नहीं है उन्हें एडवांस टैक्स की अदाएगी से अस्तासनी दिया गया है जिससे उन पर बोझ कम होगा । टैक्स शरह में हालाँकि कोई तब्दीली नहीं की गई है लेकिन बजट तजावीज़ में कॉर्पोरेट्स को इजाज़त दी गई है कि वो कम कीमती फ़ंडस का तजज़िया पेश करें और कई अहम शोबा जात में भारी सरमाया कारी करें।

मिस्टर मुकर्जी ने हवाबाज़ी-ओ-तवानाई शोबा जात के लिए मुराआत का ऐलान किया है । सर्विस टैक्स के निशाना को बहुत कम क़रार देते हुए बजट तजावीज़ में कहा गया है अब तमाम ख़िदमात पर टैक्स आइद किया जाएगा ताहम मनफ़ी फ़हरिस्त में शामिल 17 ख़िदमात पर ये टैक्स आइद नहीं होगा। मनफ़ी फ़हरिस्त के इलावा तालीम आली सतह पर मुस्लिमा इदारों में तालीम मनज़ोरा वोकेशनल तालीम रिहायशी जगह को किराया पर देना तफ़रीह और एम्यूज़ मिनट ख़िदमात बड़े पैमाने पर अवामी हमल-ओ-नक़ल की सहूलयात बिशमोल आबी सफ़र शहरी रेलवेज़ और मीटर वाली टैक्सियों को भी सर्विस टैक्स से असतसनी हासिल रहेगा।

इस के इलावा निगहदाश्त सेहत के शोबा ख़ैराती-ओ-इमदादी इदारों की ख़िदमात मज़हबी शख्सियतों की ख़िदमात स्पोर्टस पर्सन्स की ख़िदमात फोलिक और क्लासिक ख़िदमात शख़्सी ऐडवोकेटस आज़ादाना सहाफ़ी और कार पार्किंग की ख़िदमात को भी टैक्स से अस्तानी हासिल रहेगा । जिन शोबा जात पर सरवेस टैक्स आइद किया गया है सिर्फ इस से ही हुकूमत को 18,660 करोड़ रुपय का सरमाया हासिल होगा ।

नान पेट्रोलीयम अशिया पर एक्साइज़ ड्यूटी की असटानडरड शरह को 14 फीसद से घटा कर 8 फीसद कर दिया गया है । बड़ी कारों पर भी हुकूमत ने ड्यूटी में दो फीसद इज़ाफ़ा करते हुए उसे 22 फीसद कर दिया है । अगर किसी गाड़ी पर मुख़्तलिफ़ शरहों में टैक्स आइद होता है तो उन से 22 फीसद ड्यूटी के इलावा फ़ी गाड़ी 15,000 रुपये वसूल किए जाएंगे ।

हुकूमत ने गैर ज़रई अशिया पर आज़म तरीन कस्टम्स ड्यूटी को 10 फीसद ही बरक़रार रखा है और कोई तब्दीली नहीं की है । हिंदूस्तानी नज़ाद अफ़राद को ड्यूटी फ़्री बैगेज एलाउंस को 25,000 से बढ़ा कर 35,000 रुपये कर दिया गया है । दस साल उम्र के बच्चों के लिए 12,000 से बढ़ाकर 15,000 कर दिया गया है ।

सोने के टुकड़ों और सकूं पर कस्टम्स ड्यूटी बढ़ा दी गई है । कस्टम्स और सेंटर्ल एक्साइज़ से हुकूमत को 27,280 करोड़ रुपये आमदनी होगी। बजट में हुकूमत की जानिब से पाँच अहम उमूर की निशानदेही की गई है जिन पर ख़ास तवज्जा दी जाएगी । हुकूमत अंदरून-ए-मुल्क तलब में इज़ाफ़ा से निमटने की अहल तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाना ख़ानगी सरमाया कारी में आली तरीन शरह से तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाना ज़राअत के शोबा को तरक़्क़ी देना तवानाई और ट्रांसपोर्ट के शोबा को बेहतर बनाना और मुल्क के 200 अज़ला में नाक़ाबिल इस्तेमाल ग़िज़ा के मसला से निमटना शामिल है ।

बजट में अवामी ज़िंदगी में काले धन और करप्शन से निमटने पर भी तवज्जा दी गई है । हुकूमत ने ऐलान किया है कि काले धन के मसला पर पार्लीमेंट के जारीया सेशन में तफ्सीलात पर मबनी एक वाह्एट (White) पेपर जारी किया जाएगा। बजट तजावीज़ के मुताबिक़ साल 2012 – 13 में जुमला टैक्स वसूलियों की शरह 10,77,612 करोड़ रुपये मुक़र्रर की गई है जो 15.6 फीसद इज़ाफ़ी है ।

साल 2012 – 13 में जुमला अख़राजात का तख़मीना 14,90,925 करोड़ का है जिनमें  5,21,025 करोड़ मंसूबा जाती अख़राजात पर और 9,69,900 करोड़ रुपय गैर मंसूबा जाती अख़राजात पर होंगे । मिस्टर मुकर्जी ने कहा कि उन्होंने इन तजावीज़ के ज़रीया साल 2012 – 13 में इक्तेसादी इस्तेहकाम के रास्ता पर मुल्क को वापस लाने की कोशिश की है ।

इक़्तेसादी ख़सारा 5,13,590 करोड़ रुपय का है जो जुमला घरेलू पैदावार का 5.1 फीसद है ।

********* ********
मौजूदा कटौती हद में सेहत इंश्योरेंस शामिल है । वज़ीर मौसूफ़ ने बताया कि अब पाँच हज़ार रुपय तक एहतियाती सेहत चेक अप की कटौती की तजवीज़ भी शामिल की गई है । मर्कज़ी बजट से महंगाई में ज़बरदस्त इज़ाफ़ा का इम्कान है । आम आदमी के लिए ये बजट शदीद बोझ साबित होगा । वज़ीर फायनेंस ने अक़ल्लीयती उमूर की वज़ारत को 3135 करोड़ मुख़तस किए हैं । जारीया मालियती साल के लिए नज़रसानी शूदा अक़ल्लीयती बजट में 385 करोड़ का इज़ाफ़ा किया गया है जो मजमूई तौर पर 3135 करोड़ रुपये होंगे ।

गुज़श्ता साल अक़ल्लीयती वज़ारत को सालाना बजट का जुमला 2750 करोड़ रुपय मुख़तस किए गए थे । बजट 2012-13 में ग़ैरमामूली इज़ाफ़ा किया गया है ताकि इस वज़ारत की जानिब से अक़ल्लीयती तबक़ा से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा‍  के लिए स्कालरशिप स्कीम को रूबा अमल लाया जा सके । मुजव्वज़ा इज़ाफ़ा के तहत प्री मैट्रिक स्कालरशिप स्कीम को 540 करोड़ से बढ़ाकर 840 करोड़ कर दिया गया है । इस के इलावा पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप स्कीम के लिए 405 से बढ़ाकर 450 करोड़ कर दिया गया है ।

मेरिट कम स्कालरशिप स्कीम के लिए 126 करोड़ के बरअक्स इस साल 198 करोड़ रुपय कर दिए गए हैं । मौलाना आज़ाद नैशनल फेलोशिप बराए अक़ल्लीयती तलबा के लिए बजट में 47 करोड़ से बढ़ाकर 63 करोड़ कर दिया गया है । 12 वीं क्लास तक की मुस्लिम तालिबात के लिए मुफ़्त सायकिल की फ़राहमी की नई स्कीम को रूबा अमल लाने 4.50 करोड़ रुपय फ़राहम किए गए हैं ।

तालीमी शोबा के लिए वज़ीर फायनेंस ने 18 फ़ीसद का बजट इज़ाफ़ा किया है । आइन्दा मालियती साल के मंसूबा जाती बजट के तहत 61427 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए हैं । इनमें से 22 फ़ीसद सर्व शिक्षा अभियान  के लिए इज़ाफ़ा करने का ऐलान किया गया है । बजट तजावीज़ के मुताबिक़ जिन से नर सिटीजेंस ( मुअम्मर अफ़राद ) को किसी कारोबार से कोई आमदनी नहीं है उन्हें एडवांस टैक्स की अदाएगी से असतसनी दिया गया है जिससे उन पर बोझ कम होगा ।

टैक्स शरह में हालाँकि कोई तब्दीली नहीं की गई है लेकिन बजट तजावीज़ में कॉर्पोरेट्स को इजाज़त दी गई है कि वो कम कीमती फ़ंडस का तजज़िया पेश करें और कई अहम शोबा जात में भारी सरमाया कारी करें। मिस्टर मुकर्जी ने हवाबाज़ी-ओ-तवानाई शोबा जात के लिए मुराआत का ऐलान किया है ।

सर्विस टैक्स के निशाना को बहुत कम क़रार देते हुए बजट तजावीज़ में कहा गया है अब तमाम ख़िदमात पर टैक्स आइद किया जाएगा ताहम मनफ़ी फ़हरिस्त में शामिल 17 ख़िदमात पर ये टैक्स आइद नहीं होगा। मनफ़ी फ़हरिस्त के इलावा तालीम आली सतह पर मुस्लिमा इदारों में तालीम मनज़ोरा वोकेशनल तालीम रिहायशी जगह को किराया पर देना तफ़रीह और एमयूज़ मिनट ख़िदमात बड़े पैमाने पर अवामी हमल-ओ-नक़ल की सहूलयात बिशमोल आबी सफ़र शहरी रेलवेज़ और मीटर वाली टैक्सियों को भी सर्विस टैक्स से असतसनी हासिल रहेगा।

इसके इलावा निगहदाशत सेहत के शोबा ख़ैराती‍ व इम्दादी इदारों की ख़िदमात मज़हबी शख्सियतों की ख़िदमात स्पोर्टस पर्सन्स की ख़िदमात फोलिक और क्लासिक ख़िदमात शख़्सी एडवोकेटस आज़ादाना सहाफ़ी और कार पार्किंग की ख़िदमात को भी टैक्स से असतसनी हासिल रहेगा । जिन शोबा जात पर सर्विस टैक्स आइद किया गया है सिर्फ इससे ही हुकूमत को 18,660 करोड़ रुपये का सरमाया हासिल होगा ।

नान पेट्रोलीयम अशिया पर एक्साइज़ ड्यूटी की स्टैंडर्ड शरह को 14 फीसद से घटा कर 8 फीसद कर दिया गया है । बड़ी कारों पर भी हुकूमत ने ड्यूटी में दो फीसद इज़ाफ़ा करते हुए उसे 22 फीसद कर दिया है । अगर किसी गाड़ी पर मुख़्तलिफ़ शरहों में टैक्स आइद होता है तो उनसे 22 फीसद ड्यूटी के इलावा फ़ी गाड़ी 15,000 रुपये वसूल किए जाएंगे । हुकूमत ने गैर ज़रई अशिया पर आज़म तरीन कस्टम्स ड्यूटी को 10 फीसद ही बरक़रार रखा है और कोई तबदीली नहीं की है ।

हिंदूस्तानी नज़ाद अफ़राद को ड्यूटी फ़्री बैगेज एलाउंस को 25,000 से बढ़ा कर 35,000 रुपये कर दिया गया है । दस साल उम्र के बच्चों के लिए 12,000 से बढ़ाकर 15,000 कर दिया गया है । सोने के टुकड़ों और सकूं पर कस्टम्स ड्यूटी बढ़ा दी गई है । कस्टम्स और सेंटर्ल एक्साइज़ से हुकूमत को 27,280 करोड़ रुपय आमदनी होगी। बजट में हुकूमत की जानिब से पाँच अहम उमूर की निशानदेही की गई है जिन पर ख़ास तवज्जा दी जाएगी ।

हुकूमत अंदरून-ए-मुल्क तलब में इज़ाफ़ा से निमटने की अहल तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाना ख़ानगी सरमाया कारी में आली तरीन शरह से तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाना ज़राअत के शोबा को तरक़्क़ी देना तवानाई और ट्रांसपोर्ट के शोबा को बेहतर बनाना और मुल्क के 200 अज़ला में नाक़ाबिल इस्तिमाल ग़िज़ा के मसला से निमटना शामिल है । बजट में अवामी ज़िंदगी में काले धन और करप्शन से निमटने पर भी तवज्जा दी गई है ।

हुकूमत ने ऐलान किया है कि काले धन के मसला पर पार्लीमेंट के जारीया सेशन में तफ़सीलात पर मबनी एक वाहॆट पेपर जारी किया जाएगा। बजट तजावीज़ के मुताबिक़ साल 2012 – 13 में जुमला टैक्स वसूलियों की शरह 10,77,612 करोड़ रुपय मुक़र्रर की गई है जो 15.6 फीसद इज़ाफ़ी है । साल 2012 – 13 में जुमला अख़राजात का तख़मीना 14,90,925 करोड़ का है जिन में 5,21,025 करोड़ मंसूबा जाती अख़राजात पर और 9,69,900 करोड़ रुपये गैर मंसूबा जाती अख़राजात पर होंगे ।

मिस्टर मुकर्जी ने कहा कि उन्हों ने इन तजावीज़ के ज़रीया साल 2012 – 13 में इक़तिसादी इस्तेहकाम के रास्ता पर मुल्क को वापस लाने की कोशिश की है । इक़्तेसादी ख़सारा 5,13,590 करोड़ रुपये का है जो जुमला घरेलू पैदावार का 5.1 फीसद है । हुकूमत को हर एक रुपये पर 29 पैसे का क़र्ज़ है । जारीया मालियती साल के लिए 4.36 लाख करोड़ के बरअक्स 4.7 लाख करोड़ का क़र्ज़ पाया जाता है ।

TOPPOPULARRECENT