Sunday , October 22 2017
Home / India / महलूक ( मृत) नौजवानों के विरसा की शाही इमाम से मुलाक़ात

महलूक ( मृत) नौजवानों के विरसा की शाही इमाम से मुलाक़ात

नई दिल्ली, १८ सितंबर (यू यन आई)ज़िला ग़ाज़ीयाबाद के मसूरी क़स्बे में गुज़श्ता जुमा को हुई पुलिस फायरिंग में मारे गए 8 मुस्लिम नौजवानों के वारिसों और लवाहिक़ीन ( रिश्तेदारो) ने आज यहां शाही इमाम मौलाना सैय्यद अहमद बुख़ारी से मुलाक़ात करके

नई दिल्ली, १८ सितंबर (यू यन आई)ज़िला ग़ाज़ीयाबाद के मसूरी क़स्बे में गुज़श्ता जुमा को हुई पुलिस फायरिंग में मारे गए 8 मुस्लिम नौजवानों के वारिसों और लवाहिक़ीन ( रिश्तेदारो) ने आज यहां शाही इमाम मौलाना सैय्यद अहमद बुख़ारी से मुलाक़ात करके पुलिस की अंधा धुंद फायरिंग और ताक़त के बेजा ( गलत) इस्तेमाल की दास्तान सुनाई।

शाही इमाम की रिहायश गाह ( घर) पर मौजूद उन लोगों ने बताया कि पुलिस फायरिंग में मारे जाने वाले बेशतर ( ज्यादातर) नौजवान इस हुजूम ( भीड़) का हिस्सा नहीं थे जिसे मुंतशिर ( तितर बितर) करने के नाम पर पुलिस ने फायरिंग की थी।मौलाना बुख़ारी ने पुलिस मज़ालिम (अत्याचार) की दास्तान सुनने के बाद हुक्मराँ समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलायम सिंह से टेलीफ़ोन पर बात की और उन्हें आगाह किया कि वो (शाही इमाम) कल सुबह उन लोगों के साथ रामपुर के लिए रवाना हो रहे हैं।

ख़्याल रहे कि मिस्टर मुलायम सिंह यादव और वज़ीर-ए-आला ( मुख्य मंत्री) अखिलेश यादव कल रामपुर में एक तक़रीब ( सामारोह) में शिरकत के लिए पहुंच रहे हैं।शाही इमाम ने मिस्टर मुलायम सिंह से कहा कि वो इस तक़रीब में शिरकत से पहले उन लोगों की बात सुनें ताकि पुलिस मज़ालिम ( ज़ुल्म/ अत्याचार) की सही तस्वीर आप के सामने आ सके।

TOPPOPULARRECENT