Tuesday , October 17 2017
Home / India / महाराष्ट्र बी जे पी क़ाइद शिवसेना को मनाने में मसरूफ़

महाराष्ट्र बी जे पी क़ाइद शिवसेना को मनाने में मसरूफ़

बी जे पी के साथ अपने इत्तेहाद पर नज़र-ए-सानी की क़ियास आराईयों की एहमीयत कम करने की कोशिश करते हुए शिवसेना ने आज कहा कि दोनों पार्टीयों के दरमयान मज़बूत ताल्लुक़ात हींओर सदर महाराष्ट्र बी जे पी को फ़िक्रमंद होने की ज़रूरत नहीं। बी जे पी

बी जे पी के साथ अपने इत्तेहाद पर नज़र-ए-सानी की क़ियास आराईयों की एहमीयत कम करने की कोशिश करते हुए शिवसेना ने आज कहा कि दोनों पार्टीयों के दरमयान मज़बूत ताल्लुक़ात हींओर सदर महाराष्ट्र बी जे पी को फ़िक्रमंद होने की ज़रूरत नहीं। बी जे पी की बरहमी कम करने के मक़सद से सदर महाराष्ट्र बी जे पी ने सदर शिवसेना अवधू ठाकरे से मुलाक़ात की ।

शिवसेना ने इन क़ियास आराईयों के पेशे नज़र के पार्टी बी जे पी के साथ देरीना इत्तेहाद पर नज़र-ए-सानी करने का मंसूबा रखती है क्योंकि साबिक़ सदर बी जे पी नीतीन गडकरी ने शिवसेना के कट्टर हरीफ़ एम एन एस के सरबराह से मुलाक़ात की थी और एम एन एस ने ऐलान किया है कि लोक सभा इंतेख़ाबात में तमाम नशिस्तों पर शिवसेना को चैलेंज करेगी ताहम वज़ीर-ए-आज़म की उम्मीदवारी केलिए नरेंद्र मोदी की ताईद करेगी।

शिवसेना के तर्जुमान सामना के एक ईदारिया में आज तहरीर किया गया है कि शिवसेना और बी जे पी का इत्तेहाद मुल्क का क़दीम तरीन इत्तेहाद है किसी को भी फ़िक्रमंद होने की ज़रूरत नहीं ये मज़बूत है। बी जे पी और शिवसेना हिंदूतवा के इस्तेहकाम के लिए मुत्तहिद हैं । एक मुताल्लिक़ा तबदीली में सदर महाराष्ट्र बी जे पी देवेंद्र फ़र्र नवीस ने अवधू ठाकरे से मुलाक़ात की।

उन्होंने मुलाक़ात के बाद कहा कि वो अवधू जी को मतला करचुके हैं कि बी जे पी सेना को अपना फ़ित्री और बाएतेमाद हलीफ़ समझती है। बी जे पी कारकुन सेना। बी जे पी ज़ेरे क़ियादत पाँच पार्टीयों के अज़ीमुश्शान अपोज़ीशन इत्तेहाद के लिए सरगर्म रहेंगे । अवधू ठाकरे से उनकी क़ियाम मातोश्री वाक़्य बांदा में मुलाक़ात के बाद फ़र्र नवीस ने एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान इस बात का ऐलान किया।

महाराष्ट्रा नव निर्माण सेना (एम एन एस) शिवसेना की एक शाख़ है जिस के सदर अवधू ठाकरे के चचेरे भाई राज ठाकरे हैं। दोनों पार्टीयों में गुज़शता चंद इंतेख़ाबात के दौरान एक ही हल्क़ा‍‍-ए-इंतेख़ाब केलिए बड़े पैमाने पर तल्ख़ जद्द-ओ-जहद होचुकी है जिस से हरीफ़ कांग्रेस। एन सी पी इत्तेहाद को फ़ायदा पहुंचा था और वो रियासत में ज़्यादा मज़बूत होगया था।

बी जे पी क़ाइद नीतीन गडकरी ने हाल ही में मुंबई में राज ठाकरे से मुलाक़ात की थी और तजवीज़ पेश की थी कि एम एन एस अपोज़ीशन के वोट तक़सीम होने से रोकने केलिए आइन्दा आम इंतेख़ाबात में मुक़ाबला ना करें। शिवसेना के सरबराह से मुलाक़ात के बाद सदर महाराष्ट्र बी जे पी फ़र्र नवीस ने अपने ट्विटर पर तहरीर किया कि अवधू जी से मातोश्री पर उनकी मुलाक़ात होचुकी है और उन्होंने अवधू को इत्तेला दी है कि बी जे पी शिवसेना को अपना फ़ित्री और बाएतिमाद हलीफ़ समझती है ।

बी जे पी कारकुन सिर्फ़ महाएती ( सेना। बी जे पी ज़ेर क़ियादत पाँच सियासी पार्टीयों के अज़ीम अपोज़ीशन इत्तेहाद) की कामयाबी केलिए काम करेंगे । मुलाक़ात से क़बल प्रेस कान्फ्रेंस से ख़िताब करते हुए शिवसेना के तर्जुमान संजय रावत ने कहा कि अवधू जी ने हम से ( ओहदेदारों और लोक सभा केलिए शिवसेना के उम्मीदवारों ) से मुलाक़ात की थी ताकि इंतेख़ाबी हिक्मत-ए-अमली पर बातचीत की जा सके ।बी जे पी के तमाम बुरे क़ाइदीन अवधू जी से रब्त में हैं।

TOPPOPULARRECENT