Friday , August 18 2017
Home / World / माईक्रोसाफ़्ट का अमरीकी सरकार पर मुक़द्दमा

माईक्रोसाफ़्ट का अमरीकी सरकार पर मुक़द्दमा

अमरीकी संस्था माईक्रोसाफ़्ट ने उपभोक्ता के डैटा तक रसाई के मुआमले पर अमरीकी हुकूमत के ख़िलाफ़ एक मुक़द्दमा दायर कर दिया है। ये मुक़द्दमा ऐसे उपभोक्ता को बाख़बर करने का हक़ देने के लिए क़ायम किया गया है जिनके डैटा तक हुकूमत रसाई हासिल करती है।

उपभोक्ता की प्राईवेसी के मुआमले पर अमरीकी टेक्नोलॉजी इदारों और हुकूमत के दरमयान कशमकश की ये ताज़ा कड़ी है। ख़बररसां इदारे रोइटर्स के मुताबिक़ बुध 13 अप्रैल को ये मुक़द्दमा दारुल हुकूमत वाशिंगटन के मग़रिबी डिस्ट्रिक्ट में क़ायम एक वफ़ाक़ी अदालत में दायर किया गया।

इस मुक़द्दमे में दलील पेश की गई है कि अमरीकी हुकूमत माईक्रोसाफ़्ट कंपनी को ऐसे उपभोक्ता को आगाह करने से रोक कर आईन (कानून) की ख़िलाफ़वर्ज़ी कर रही है, जिनके डैटा तक वो तफतीशी मक़ासिद के लिए रसाई (पहुंच) हासिल करती है। माईक्रोसाफ़्ट की ख़ाहिश है कि ऐसे हज़ारों उपभोक्ता को वो इस बात से आगाह करे जिनकी ई मेल्ज़ और दीगर दस्तावेज़ात तक हुकूमती इदारे रसाई की दरख़ास्त करते हैं।

इस मुक़द्दमे के मुताबिक़ ऐसे हुकूमती इक़दामात दरअसल आईन (कानून) की चौथी तरमीम की ख़िलाफ़वर्ज़ी हैं, जिसके मुताबिक़ लोगों और कारोबारी इदारों को ये हक़ हासिल है कि अगर हुकूमत उनकी प्रॉपर्टी की तलाशी लेती है या उसे ज़ब्त करती है तो उन्हें उस की ख़बर होनी चाहिए। इस के इलावा ये आज़ादी इज़हार का हक़ देने वाली अमरीकी आईन (कानून) में पहली तरमीम की भी ख़िलाफ़वर्ज़ी है।

TOPPOPULARRECENT