Sunday , September 24 2017
Home / Bihar/Jharkhand / माफी मांगे सुशील मोदी नहीं तो मानहानि का मुकदमा करूंगा : लालू यादव

माफी मांगे सुशील मोदी नहीं तो मानहानि का मुकदमा करूंगा : लालू यादव

पटना : राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के अपने बड़े पुत्र तथा बिहार के मंत्री स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पर उन्हें करीब चार साल की उम्र में सेवा के बदले भाजपा सांसद रमा देवी के दानस्वरुप करोड़ों रुपये की 13 एकड़ 12 डिसमिल जमीन उपहार स्वरुप दे देने के आरोप को गुमराह करने वाला बताते हुए आज कहा कि सुशील माफी मांगे नहीं तो दो दिनों के भीतर उनके खिलाफ वे मानहानि का मुकदमा करेंगे.

यहां दस सर्कुलर रोड स्थित अपनी पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबडी देवी के आवास पर आज लालू ने सुशील द्वारा कल तेज प्रताप पर उन्हें करीब चार साल की उम्र में सेवा के बदले रमा देवी के दानस्वरुप करोड़ाें रुपये की 13 एकड़ 12 डिसमिल जमीन उपहार स्वरुप दे देने के आरोप को तथ्यहीन बताते हुए कहा कि सुशील ने इस मामले में देश और जनता को गुमराह किया है और वे लगातार ऐसा करते रहे हैं.

23 मार्च 1992 को रमा देवी ने बिना हम लोगों की सहमति के तेज प्रताप यादव (नाबलिग) के नाम से उक्त जमीन दान पत्र बनवा लिया जबकि दान पत्र के मामले में रजिस्टरी नियमावली के अनुसार प्रपत्र 4 पर दोनों पक्षों का रजामंदी होती है जबकि इस दान पत्र में प्रपत्र 4 में दोनों पक्षों की सहमति (हस्ताक्षर) नहीं है. उन्होंने कहा कि रजिस्टरी के कुछ दिनों के बाद रमा देवी के पति बृजबिहारी प्रसाद (दिवंगत) उक्त डीड को लेकर उनके पास आये और बोले कि 13 एकड़ 12 डिसमिल जमीन तेज प्रताप यादव को दान किया हैं.

लालू ने कहा ‘मैं उक्त दान पत्र को देखकर काफी नाराज हुआ और उन्हें निर्देश दिया कि अविलंब उक्त दस्तावेज का रद्दनामा करवाकर पत्र मुझे दिखायें.’ उन्होंने उक्त दान पत्र और रद होने से संबंधित दस्तावेज मीडिया को जारी करते हुए बताया कि 30 जून 1993 को उक्त रद्दनामा दस्तावेज मुजफ्फरपुर स्थित रजिस्टरी आफिस में रजिस्ट्रर्ड हुआ. लालू ने कहा कि उस जमीन में रमा देवी ने पोखर खोदवाया है और उसमें खेती करवाती हैं तथा वहां लीची के बगान लगे हुए हैं.

राजद प्रमुख ने सुशील को भाजपा का ‘झूठा तोता’ की संज्ञा देते हुए कहा कि वे उनपर और उनके परिवार के सदस्यों के पास ‘बेनामी संपत्ति ‘ का आरोप पिछले डेढ महीने से लगाकर और आज ऐसा दिल्ली में कर सरकार, देश और जनता को गुमराह करते आ रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा उनकी आगामी 27 अगस्त को आयोजित होने वाली रैली से घबराकर हताश है.

उल्लेखनीय है कि सुशील ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद परिवार की कथित ‘बेनामी संपत्ति ‘ के अपने खुलासे की अगली कड़ी में मंगलवार को पटना में उनके बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया था कि तेज प्रताप को करीब चार साल की उम्र में रमा देवी ने सेवा के बदले दानस्वरुप करोड़ों रुपये की 13 एकड़ 12 डिसमिल जमीन उपहार स्वरुप दी थी.

TOPPOPULARRECENT