Wednesday , August 23 2017
Home / Khaas Khabar / मायावती की रैली- सत्ता में रहते बीजेपी विकास नहीं RSS के एजेंडे को मजबूत कर रही है

मायावती की रैली- सत्ता में रहते बीजेपी विकास नहीं RSS के एजेंडे को मजबूत कर रही है

लखनऊ। आगरा में बसपा प्रमुख मायावती ने ‘सर्वजन सुखाय, सर्वजन हिताय’ नामक रैली से चुनावी अभियान की शुरुआत की और भाजपा, समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर एक-एक करके हमले किए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सपा और भाजपा की नियत और नीति को जनता समझ चुकी है. इसबार बसपा को सत्ता में आने से कोई भी ताकत रोक नहीं पायेगी. पूर्ण बहुमत की सरकार आने से यहां न्याय और अच्छे दिन आयेंगे.

रैली में मायावती ने अपने शब्दों के तीर सबसे पहले कांग्रेस पर चलाए और कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने 37 साल तक राज किया लेकिन यहां का विकास नहीं कर पायी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सवर्ण गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने की बात कर रही है, लेकिन यह दावा पूरी तरह से छलावा है. कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए ऐसा क्यों नहीं किया. मायावती ने कहा कि कांग्रेस अपने कृत्य के कारण केंद्र से भी बाहर हो चुकी है. कांग्रेस की नजर सवर्ण वोटों पर टिक गई है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सीएम उम्मीदवार शीला दीक्षित ने दिल्ली को बर्बाद किया. जब व‍ह दिल्ली की सीएम थी तो उन्होंने दिल्ली की बर्बादी के लिए यूपी को जिम्मेदार बताया था. भाजपा पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार के दौरान भाजपा ने विकास नहीं किया बल्कि आरएसएस के एजेंडे पर चलते हुए सांप्रदायिकता को ही मजबूत किया. उन्होंने कहा कि आरक्षण खत्म करने की ये लोग साजिश कर रहे हैं लेकिन बसपा ऐसा होने नहीं देगी.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

लोकसभा चुनाव की बातों को मायावती ने याद करते हुए कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में किया गया एक भी वादा नरेंद्र मोदी और भाजपा वालों ने पूरा नहीं किया है. गरीबों को सस्ता राशन नहीं मिला साथ ही पीएम मोदी की सरकार ने ऐसे कानून बना दिए हैं, जिनसे व्यापारियों की दुर्दशा हो रही है. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान 100 दिन के अंदर काला धन वापस लाकर गरीबों के बीच बांटने का वादा किया गया था लेकिन अब मोदी सरकार ही काला धन सफेद करने का फार्मूला ला रही है.

TOPPOPULARRECENT