Thursday , October 19 2017
Home / Bihar News / मिड डे मील खाने से 106 बच्चे बीमार, हिरासत में दो असातिज़ा

मिड डे मील खाने से 106 बच्चे बीमार, हिरासत में दो असातिज़ा

शिवहर जिले के डुमरी कटसरी ब्लॉक के तहत मिडिल स्कूल कटसरी ओझा टोला में मंगल दोपहर मिड डे मील खाने से 106 बच्चे बीमार हो गए। बीमार बच्चों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इत्तिला मिलने पर डीएम कुमार विनोद नारायण सिंह, एसपी हिमां

शिवहर जिले के डुमरी कटसरी ब्लॉक के तहत मिडिल स्कूल कटसरी ओझा टोला में मंगल दोपहर मिड डे मील खाने से 106 बच्चे बीमार हो गए। बीमार बच्चों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इत्तिला मिलने पर डीएम कुमार विनोद नारायण सिंह, एसपी हिमांशु शंकर त्रिवेदी, थानाध्यक्ष राकेश गोसाई, एमएलए के शौहर राणा रणधीर सिंह चौहान, साबिक़ एमएलए संजय गुप्ता समेत कई लोग सदर अस्पताल पहुंचकर हालात का जायजा लिया। वहीं बीमार बच्चों का हालचाल पूछा। हालांकि इलाज कर रहे डॉक्टर ने बच्चों की हालत खतरे से बाहर बताया है।
बीमार बच्चों के वालेदाईन ने अस्पताल अहाते में हंगामा किया और प्रिन्सिपल को बर्खास्त करने की मांग की। दो असातिज़ा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। देर शाम 102 बच्चों को इलाज के बाद घर भेज दिया गया। बाकी चार बच्चों की हालत में बेहतरी होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी। सिविल सर्जन आरके श्वेपांकी ने बताया कि बच्चों में जहर के अलामत पाए गए हैं। चार बच्चों की हालत आम नहीं होने की वजह उन्हें अस्पताल में रखा गया है।

जिला अफसर सिविल सर्जन और डॉक्टरों की टीम के साथ स्कूल पहुंचकर मिड डे मील के लिए बने खाने का सैंपल जमा किया। जिसे जांच के लिए पटना भेजा गया। जिला अफसर ने बताया कि वाकिया की जांच की जा रही है। मुजरिम असातिज़ा पर कारवाई की जाएगी। डीएम की हिदायत पर अस्पताल में सीनियर उपसमाहर्ता सुमित कुमार, थाना इंचार्ज राकेश गोसाई, अंचला अफसर, बीडियो समेत कई अफसर कैंप कर रहे हैं।

कैसे हुई वाकिया

मिडिल स्कूल कटसरी ओझा टोला में मंगल दोपहर मिड डे मिल बच्चों के दरमियान परोसा गया। बच्चे जैसे ही खाना खाना शुरू किए कि पांचवी क्लास के तालिबे इल्म शुभम कुमार के थाली में छिपकली का मुंडा मिला। इसकी जानकारी शुभम ने असातिज़ा को दिया। लेकिन असातिज़ा राजेश कुमार इसे नजरअंदाज कर दिए। खाना खाने के तुरंत बाद 106 बच्चो को उल्टी होने लगी और पेट में दर्द महसूस होने लगा। तब असातिज़ा को होश आया और इसकी इत्तिला सीनियर ओहदेदारों को दिए। सीनियर ओहदेदार फौरी कारवाई करते हुए सदर अस्पताल से स्कूल में दो एंबुलेंस भेजवाया। जिससे बीमार बच्चों को सदर अस्पताल लाया गया।

TOPPOPULARRECENT