Tuesday , October 17 2017
Home / District News / मिस्टर सी रामचंद्रया कड़पा के मुस्लमानों में मक़बूल क़ाइद

मिस्टर सी रामचंद्रया कड़पा के मुस्लमानों में मक़बूल क़ाइद

कड़पा, २१ जनवरी ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) रामचंद्रया को जिन का ताल्लुक़ कड़पा से है रियास्ती काबीना में शामिल करलिया गया । गुज़शता चंद दिनों से प्रजा राज्यम पार्टी क़ाइद मिस्टर सी रामचंद्रया को रियास्ती काबीना में लेने की क़ियास आ

कड़पा, २१ जनवरी ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) रामचंद्रया को जिन का ताल्लुक़ कड़पा से है रियास्ती काबीना में शामिल करलिया गया । गुज़शता चंद दिनों से प्रजा राज्यम पार्टी क़ाइद मिस्टर सी रामचंद्रया को रियास्ती काबीना में लेने की क़ियास आराईयों के दरमयान ज़िला कड़पा के दो रियास्ती वुज़रा डाक्टर डी एल रवीनद्रा रेड्डी और अक़ल्लीयती वज़ीर अहमद उल्लाह के इलावा कमलापुरम के रुकन असेंबली वीरा शिवा रेड्डी की जानिब से मुबय्यना तौर पर रियास्ती काबीना में शामिल ना करने के लिए कांग्रेस आला कमान पर दबाव डालने की कोशिश की गई । रियास्ती वुज़रा इस मक़सद से वहां का दौरा कर के मिस्टर रामचंद्रया को रियास्ती काबीना में ना लेने केलिए भरपूर कोशिश की गई ।

कांग्रेस हाईकमान ने प्रजा राज्यम सदर मिस्टर चिरंजीवी की तजवीज़ से इत्तिफ़ाक़ करते हुए मुख़ालिफ़ीन की परवाह किए बगै़र मिस्टर सी रामचंद्रया को रियास्ती काबीना में शामिल करने का फ़ैसला किया ।साहिली आंधरा से जी श्री निवास राव रायलसीमा से एम एल सी मिस्टर सी रमचंद्र्या को रियास्ती काबीना में शामिल किया गया । मिस्टर रामचंद्र या को रियास्ती काबीना में शामिल करने पर बड़े पैमाने पर उन के हामीयों ने ख़ुशी का इज़हार किया है ।ज़िला कड़पा में प्रजा राज्यम के क़ाइदीन और कारकुनों में ख़ुशी की लहर दौड़ गई । कड़पा के इलावा राजिम पेट रेलवे को डर और राय चोटी मैं मिस्टर रामचंद्रया के हामी ज़्यादा नहीं । मिस्टर रामचंद्र या ने अपनी ज़िंदगी का आग़ाज़ बैंक में मुलाज़मत से शुरू किया । बादअज़ां चार्टेर्ड एकाउटेंट बनें।

उन्हों ने अपनी सयासी ज़िंदगी का आग़ाज़ 1983-ए-में बहैसीयत कौंसिलर किया । कड़पा के स्ताना मख़दूम इलाही के मुहल्ले नक़्क़ाश से उन्हों ने पहली मर्तबा अपनी सयासी ज़िंदगी का आग़ाज़ करते हुए बहैसीयत कौंसिलर तेलगुदेशम पार्टी से कौंसिलर मुंतख़ब हुए । 1985-ए-में सदर तलगूदेशम एन टी रामा राव ने कड़पा से असेंबली टिकट दिया । इन असेंबली इंतेख़ाबात में मिस्टर रामचंद्रया ने 8200 वोटों की अक्सरीयत से कामयाबी हासिल की । मिस्टर एन टी रामा राव ने उन्हें पहली मर्तबा रियास्ती काबीना में शामिल किया । 1988-ए-में उन्हें स्टेट फ़ीनानस कारपोरेशन चेयरमैन नामज़द किया गया । 1989-ए-में मिस्टर रामा राव ने उन्हें लोक सभा राजिम पेट से टिकट दिया ताहम कांग्रेस उम्मीदवार मिस्टर साई प्रताप के हाथों शिकस्त हुई । 1989-ए-ता 1994-ए-में उन्हों ने तेलगुदेशम पार्टी रियास्ती जनरल सेक्रेटरी की हैसियत से ख़िदमात अंजाम दी । 1991-ए-में मुनाक़िदा लोक सभा इंतेख़ाबात में उन्हें कड़पा से तेलगुदेशम टिकट दिया गया कांग्रेस उम्मीदवार डाक्टर वाई एस राज शेखर रेड्डी के हाथों शिकस्त हुई । 1995-ए-में तेलगुदेशम हुकूमत के बरसर‍ ए‍क्तेदार आने के बाद असैंबली स्टेट सिविल स्पलाईज़ चेयरमैन नामज़द किया गया ।

तेलगुदेशम पार्टी ने उन्हें दो मर्तबा रुकन राज्य सभा नामज़द किया । मिस्टर रामचंद्रया का शुमार सयासी दानिश्वरों में होता है । उन्हें तेलगुदेशम में आला मुक़ाम हासिल रहा ताहम 2008-ए-में मिस्टर चिरंजीवी ने अपनी पार्टी प्रजा राज्यम क़ायम करने के बाद मिस्टर सी रामचंद्रया तेलगुदेशम पार्टी को ख़ैरबाद कह कर प्रजा राज्यम में शामिल हो गए । मिस्टर चिरंजीवी के क़रीबी रफ़ीक़ों में शुमार किए जाते हैं । इस लिए मिस्टर चिरंजीवी ने उन्हें एम एल सी बनाया । अब रियास्ती काबीना में शामिल करने का फ़ैसला किया जिस से मिस्टर चिरंजीवी से उन की क़ुरबत का अंदाज़ा होता है । मिस्टर सी रामचंद्र या कड़पा के मुस्लमानों में काफ़ी मक़बूल हैं ।

उन्हों ने हमेशा मुस्लमानों के मुफ़ादात केलिए काम किया ख़ुसूसन कड़पा में मदीना इंजनीयरिंग कालेज के क़ियाम मैं मिस्टर सी रामचंद्र या ने अहम रोल अदा किया । अक़ल्लीयती क़ाइद मख़दूम बुख़ारी संगम ग्रुप के मालिक अल्हाज नसीर उद्दीन साहिब के देरीना और क़रीबी दोस्त होने की वजह से उन्हों ने कड़पा में मदीना इंजनीयरिंग कालेज की मंज़ूरी में अहम रोल अदा क्या । इस के इलावा मुहम्मदिया काम्पलेक्स की तामीर में अपना भरपूर ताऊन दिया ।

TOPPOPULARRECENT