Wednesday , October 18 2017
Home / Khaas Khabar / मिस्री एहतिजाजियों पर नामालूम बंदूक़ बर्दारों की फायरिंग

मिस्री एहतिजाजियों पर नामालूम बंदूक़ बर्दारों की फायरिंग

क़ाहिरा, 12 दिसंबर: (पीटीआई) मिस्र एक बार फिर बड़ी हद तक सेक्यूलर अपोज़ीशन ग्रुपों और इस्लाम पसंदों की हिमायत वाले सदर मुहम्मद मोर्सी के दरमियान टकराव की तरफ़ बढ़ रहा है । आज बंदूक़ बर्दारों ने बड़े पैमाना पर यहां मशहूर तहरीर स्क़्वायर मे

क़ाहिरा, 12 दिसंबर: (पीटीआई) मिस्र एक बार फिर बड़ी हद तक सेक्यूलर अपोज़ीशन ग्रुपों और इस्लाम पसंदों की हिमायत वाले सदर मुहम्मद मोर्सी के दरमियान टकराव की तरफ़ बढ़ रहा है । आज बंदूक़ बर्दारों ने बड़े पैमाना पर यहां मशहूर तहरीर स्क़्वायर में एहतिजाजियों पर फायरिंग कर दी, जिसमें कम अज़ कम 10 अफ़राद ज़ख्मी हो गए ।

एक ऐसे रोज़ जिसे कई लोग मानेंगे कि मिस्र में मौजूदा सयासी बोहरान में फैसलाकुन रहेगा , कम अज़ कम 10 एहतिजाजी तहरीर चौराहा पर मुसल्लह हमले में ज़ख्मी हुए, जहां 23 नवंबर से खुले आसमान के नीचे धरना मुनज़्ज़म किया गया है। नामालूम हमलावरों ने इस मुक़ाम पर एहतिजाजियों को फायरिंग का निशाना बनाया।

विज़ारत-ए-सेहत के ओहदेदार ने कहा कि 9 अफ़राद को हाथों और पैसे पर ज़ख्म आए जबकि एक एहतिजाजी का सर ज़ख़मी हुआ। इस हमले पर तहरीर स्क़्वायर में अफ़रातफ़री शुरू हो गई जबकि एहतिजाजियों ने जवाबन अवाम इस हुकूमत का ज़वाल चाहते हैं कि नारे लगाए, यहां तक कि आख़िर-ए-कार इज़तिराब आमेज़ ख़ामोशी छा गई।

सारे दार-उल-हकूमत में सेक्योरिटी सख़्त कर दी गई और पुलिस को वसती क़ाहिरा में इंसिदाद फ़साद की गाड़ियों में तैनात कर दिया गया। फायरिंग का ये वाक़िया 15 दिसंबर के रेफ़रंडम से क़ब्ल हुआ है जिसमें नए इस्लाम पसंद दस्तूर के बारे में अवाम अपनी राय देंगे।

मोर्सी ने आज एक क़ानून में तरमीम की ताकि वोटर्स अपने बैलटों का इस्तेमाल अपने इंतिख़ाबी अज़ला के बाहर ना कर सके, जैसा कि वो माज़ी में किया करते थे। एक सदारती बयान में कहा गया कि किसी भी जगह से वोट देने के काबिल होना एक सहूलत रहे लेकिन इससे इंतिख़ाबी ओहदेदारों पर बोझ आइद होता है।

बयान में कहा गया कि राय दही ( मतदान) को किसी भी फ़र्द के अपने ज़िला तक महिदूद करने का मक़सद इंतिख़ाबी अमल के मुंसिफ़ाना पन के ताल्लुक़ से तशवीश का अज़ाला करता है। क़बल अज़ीं हुकूमत ने मिल्ट्री को इंतिख़ाबी मुद्दत के दौरान गिरफतारियां करने का इख्तेयार अता कर दिया, जो साबिक़ में पुलिस तक महिदूद था।

TOPPOPULARRECENT