Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / मिस्री सदारती इंतिख़ाब में वोट डालना हराम है: अलक़रज़ावी

मिस्री सदारती इंतिख़ाब में वोट डालना हराम है: अलक़रज़ावी

मिस्री कतरी आलिमे दीन अल्लामा यूसुफ़ अलक़रज़ावी ने मिस्री अवाम पर ज़ोर दिया है कि 26, 27 को होने वाले सदारती इंतिख़ाब का बाईकॉट करें।अल अरबिया डाट नेट के मुताबिक़ अल्लामा क़रज़ावी का ये फ़तवा एक ऐसे वक़्त सामने आया है कि जब पेश आइंद सदारती इंत

मिस्री कतरी आलिमे दीन अल्लामा यूसुफ़ अलक़रज़ावी ने मिस्री अवाम पर ज़ोर दिया है कि 26, 27 को होने वाले सदारती इंतिख़ाब का बाईकॉट करें।अल अरबिया डाट नेट के मुताबिक़ अल्लामा क़रज़ावी का ये फ़तवा एक ऐसे वक़्त सामने आया है कि जब पेश आइंद सदारती इंतिख़ाब में साबिक़ फ़ौजी सरबराह अब्दुल फत्ताह अलसीसी की कामयाबी को नविश्ता दीवार क़रार दिया जा रहा है।

अल्लामायूसुफ़ अलक़रज़ावी के बाक़ौल अब्दुल फत्ताह ने मुंतख़ब हुकूमत को शब ख़ून मार कर ख़त्म किया और फिर इक़तिदार पर क़ाबिज़ हुआ, ऐसे उम्मीदवार को वोट देना हराम है। अल्लामा यूसुफ़ अलक़रज़ावी ने फ़तवा नुमा अपना बयान क़तर के दारुल हुकूमत दोहा में इंटरनेशनल यूनीयन आफ़ इस्लामी स्कालरस के ज़ेर-ए-एहतिमाम अल-क़ूदस कान्फ़्रैंस के इख़तिताम पर जारी किया। याद रहे कि इंटरनैशनल यूनीयन आफ़ इस्लामी स्कालरज़ के सदर अल्लामा यूसुफ़ अलक़रज़ावी ख़ुद ही हैं।

उन्हों ने उम्मीद ज़ाहिर की कि पूरे का पूरा फ़सलतीन जलद यहूदी तसल्लुत से आज़ाद होगा।कान्फ़्रैंस के बाद अल्लामा यूसुफ़ अलक़रज़ावी ने माईक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्वीटर पर मुतअद्दिद पैग़ामात में कहा कि में हर इस इक़दाम का हामी हूँ जो मिस्र में मुंतख़ब हुकूमत का तख़्ता उल्टने का मुख़ालिफ़ है।

में मिस्र का शीराज़ा मुत्तहिद देखना चाहता हूँ, इस सिलसिले में तमाम कोशिशों को मुजतमा करने का ख़ाहां हूँ। मैं मिस्र का एतिमाद बहाल देखना चाहता हूँ, मैं दुश्मन के सामने हथियार डालने के बजाय मुज़ाहमत का प्रचारक हूँ।एक और ट्वीट में उन्होंने वाज़िह किया कि मेरी रिहायश गाह क़तर से तीवनस या किसी दूसरे मुल्क मुंतक़ली के बारे में क़ियास आराईयां बहुत से लोगों की नाकाम ख़ाहिश का हैं।

TOPPOPULARRECENT