Thursday , September 21 2017
Home / World / मिज़ाईल तजुर्बे पाबंदीयों का नतीजा हैं – ईरानी जनरल

मिज़ाईल तजुर्बे पाबंदीयों का नतीजा हैं – ईरानी जनरल

ईरानी पासदाराने इन्क़िलाब दस्तों आई आर जी सी ने बताया कि बुध की सुबह दो बैलिस्टिक मिज़ाईल कामयाबी से दागे़ गए और उन्हें बनाने का मक़सद सिर्फ ये है कि इसराईल को निशाना बनाया जा सके।

इस बयान में बताया गया है, आज बुध की सुबह आई आर जी सी ने शुमाली ईरान से क़दर नामी दो मिज़ाईल दागे़, जिन्हों ने मुल्क के जुनूबी हिस्से में तक़रीबन चौदह सौ किलोमीटर दूर अपने हदफ़ को कामयाबी से निशाना बनाया।

ईरान की सरहद से तल अबीब और येरूशलम का फ़ासिला तक़रीबन एक हज़ार किलोमीटर है। ये मिज़ाईल तजुर्बे एक ऐसे मौक़ा पर किए गए हैं, जब अमरीकी नायब सदर जो बाईडन इसराईल का दौरा कर रहे हैं।

जो बाईडन ने येरुशलम पहुंचने पर कहा, अगर ईरान जौहरी मुआहिदे की ख़िलाफ़वर्ज़ी करता है तो हम उस का जवाब देंगे। अभी गुज़िश्ता हफ़्ते ही दोनों इत्तिहादी ममालिक इसराईल और अमरीका ने मुशतर्का फ़ौजी मश्क़ें भी की थीं। इसराईल पहले ही आलमी ताक़तों और ईरान के माबैन होने वाले जौहरी मुआहिदे पर तन्क़ीद कर चुका है।

पासदाराने इन्क़िलाब के ब्रीगेडीयर जनरल अमीर अली हाजी ज़ादा के मुताबिक़ इन मीज़ाईलों की तैयारी का मक़सद ये है कि अपने दुश्मन इसराईल को एक महफ़ूज़ फ़ासले से बाआसानी निशाना बनाया जा सके। ये मिज़ाईल दो हज़ार किलोमीटर तक अपने एहदाफ़ को निशाना बनाने की सलाहीयत रखते हैं।

TOPPOPULARRECENT