Saturday , October 21 2017
Home / India / मीडिया में रिश्वत अफ़सोसनाक:वज़ीर-ए-आज़म

मीडिया में रिश्वत अफ़सोसनाक:वज़ीर-ए-आज़म

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने ख़ुद जाँच‌ की हिमायत करते हुए आज कहा कि सहाफ़त के अंदर भी बाज़ अरकान रिश्वत सतानी में मुलव्वस होते हैं। सहाफ़त को चाहिए कि वो उन अफ़राद को अपनी सफ़ से दूर करदें।

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने ख़ुद जाँच‌ की हिमायत करते हुए आज कहा कि सहाफ़त के अंदर भी बाज़ अरकान रिश्वत सतानी में मुलव्वस होते हैं। सहाफ़त को चाहिए कि वो उन अफ़राद को अपनी सफ़ से दूर करदें।

हमारे मुल्क में साफ़-ओ-शफ़्फ़ाफ़ आज़ादाना मीडिया ही हमारे लिए कीमती असासा है। ये मीडिया ही मालूमात, तालीम और अवामी बेदारी के साथ हुकूमत के कामों पर मुनासिब तन्क़ीद करता है। उन्होंने मलयाला मनोरमा ग्रुप की 125 साला तक़रीब से ख़िताब करते हुए कहा कि मीडिया तेज़ी से ताकत‌ पारहा है, इसके साथ ही इसके अंदर रिश्वतखोर भी पैदा होरहे हैं लेकिन सब से अच्छी बात ये है कि उन अफ़राद के ताल्लुक़ से भी मीडिया में ग़ौर-ओ-ख़ौज़-ओ-बहस होरही है।

मीडिया को ख़ुद ऐसी राहें तलाश करनी चाहिए जिस के ज़रिया वो अपनी खामियों को दूर करसकें। उन्होंने मलयाला मनोरमा ग्रुप को मुबारकबाद देते हुए कहा कि अख़बार बेहतरीन सहाफ़त की रोशन मिसाल है, जिसने अवाम को तालीम और मालूमात से आरास्ता किया। इस मौके पर तक़रीर करते हुए वज़ीर दिफ़ा ए के अंतोनी ने कहा कि मुल्क के अंदर शफ़्फ़ाफ़ इन्क़िलाब आरहा है। मुल्क के तमाम इदारों में भी इस तरह के इन्क़िलाब की शदीद ज़रूरत है।

TOPPOPULARRECENT