Thursday , May 25 2017
Home / Delhi News / मीडिया वाले खुलकर बोलने से डरते हैं, कहते हैं नौकरी चली जायेगी- राहुल गांधी

मीडिया वाले खुलकर बोलने से डरते हैं, कहते हैं नौकरी चली जायेगी- राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में जनवेदना सम्मेलन में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री एक के बाद दूसरे मुद्दों पर कूदते हैं और उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें। राहुल ने नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक जैसे कई मुद्दों पर नरेंद्र मोदी को जमकर घेरा। राहुल यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि मीडिया आजकर खुलकर नहीं बोल पा रहे हैं, मीडिया दिल से खुलकर नहीं बोलते हैं।

जब मनमोहन सिंह और चिंदबरम वित्त मंत्री थे तो मीडिया खुलकर बोलती थी, वह दिल से खुलकर नहीं बोलते हैं। मीडिया वाले मेरे पास आते हैं कहते हैं कि भैया डर लगता है, ये नौकरी चली जाएगी, ये फोन आ जाएगा, आप हमारी बात समझ जाएगी। हम आपकी बात समझते हैं, आपको कष्ट नहीं पहुचाना चाहते हैं, लेकिन आपकी भी जिम्मेदारी है। ऑटोमोबाइल सेक्टर मे 60 फीसदी गाड़िया कम बिकी हैं, पिछले 16 सालों में गाड़ियों की बिक्री में जबरदस्त गिरावट आई है।

भारत के अर्थशास्त्रियों की छोड़ दीजिए, दुनिया को जिसने नोटबदी का कॉसेप्ट दिया उसने कहा कि नरेंद्र मोदी ने इसको समझा ही नहीं। नोटबंदी एक बहाना है, नरेंद्र मोदी जी को पता लग रहा है कि वह योगा के पीछे, मेक इन इंडिया के पीछे, स्किल इंडिया के पीछे नहीं छिप पाएंगे औऱ जब उन्हें घबराहट हुई तो उन्होंने अपने होम मेड इकॉनोमिस्ट बाबा रामदेव व भोगले के पीछे छिपने की कोशिश की औऱ देश की इकोनोमी को तोड़ दिया है।

ढाई साल पहले नरेंद्र मोदी सरकार में आए बोले सफाई करुंगा, सबको झाड़ू पकड़ा दी, चार दिन फैशन चला और भूल गए। हम मीडिया की मुश्किल को समझते हैं, लेकिन उनके पास एक जिम्मेदारी है कि जो लोग गांवों में दर्द को झेल रहे हैं उसे वो लोग उठाएं। पीएम कहते हैं कि अच्छे दिन आएंगे, लेकिन कब, अच्छे दिन तभी आएँगे जब काग्रेस 2019 में सरकार में आएगी।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT