Saturday , September 23 2017
Home / Delhi / Mumbai / मुंबई में एक गरीब महिला की दर्या दिली पड़ोसियों को मुफ्त में पानी की अध्यक्षता

मुंबई में एक गरीब महिला की दर्या दिली पड़ोसियों को मुफ्त में पानी की अध्यक्षता

मुंबई: मुंबई की एक महिला ज़रीना अपनी जीवन की लड़ाई अकेले लड़ रही है लेकिन पुरस्कार व इकराम की तमन्ना के बिना चुप मानवीयता भी अंजाम दे रही है। यह महिला 10 बच्चों की मां भी है और आर्थिक तंगदस्ती का शिकार भी है, इसके बावजूद मोहल्ले की मदद करते हुए अनुकरणीय मिसाल कायम कर दी है। क्षेत्र मन सुरद स्लम बस्ती इंदिरा नगर में यह महिला अपनी बावली से पड़ोसियों को मुफ्त में पानी पोषित जहां इन दिनों पानी की भारी कमी पाई जाती है। इस बस्ती के निवासियों को पीने के पानी के साथ पानी माफिया से खारा पानी भी खरीदना पड़ता है।

इस खारे पानी अवैध बोरवेलज़ और बाउलयों लाया जाता है। यह पानी कपड़े और बर्तन धोने और स्नान या शौचालय में इस्तेमाल किया जाता है .कृना के मकान में भी एक प्राचीन खारे पानी की बावली मौजूद है लेकिन उन्होंने हयालात का लाभ उठाकर पानी के व्यापार नहीं की, उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में कैसे पानी बेचे साहब? जब भगवान ने जीवन कौमार्य, पानी बेचकर क्या जीना। गरीब और स्वाभिमान महिला 10 बच्चे हैं जिनमें 2 मानसिक रूप से विकलांग हैं और शोहरानखें बच्चों के साथ छोड़ कर चला गया है।

ज़रीना ने बताया कि कृदवज़ी काम करके मासिक 1500 ता 2000 रुपये कमा रहे हैं। अल्लाह का शुक्र‌ है कि उनके मकान में बावली होने से कभी पानी की कमी महसूस नहीं हुई यहां तक कि गर्मी में पानी की भारी किल्लत के दौरान क पड़ोसी भी बावली से पानी मिलता है लेकिन दुखद बात यह है कि इस महिला का एक भी बच्चा स्कूल नहीं जाता जिससे उनकी आर्थिक मजबूरी व्यक्त हो। अगर ज़रीना जीवन मुसीबतों में घिरी हुई है लेकिन वह दूसरों को राहत (मुफ्त पानी) देकर पशोपेश नहीं करतीं।

TOPPOPULARRECENT