Wednesday , October 18 2017
Home / India / मुंबई मे ईमारत गिरने के 14 घंटे बाद एक आदमी को बचाया गया

मुंबई मे ईमारत गिरने के 14 घंटे बाद एक आदमी को बचाया गया

स्रोत : द हिन्दू

साईं दर्शन भवन के मलबे के नीचे फंसे 57 वर्षीय एक व्यक्ति को 14 घंटे बाद बचाया गया। राजेश दोशी, जो अपनी पत्नी रक्षा और बेटे दर्शन के साथ चौथी मंजिल पर रहते थे, मंगलवार को जब इमारत गिरी तब अपने घर में आराम कर रहे थे और उनकी पत्नी और बेटा उस समय घर से बाहर गए हुए थे।

“मैं डायबिटिक हूं और लगभग एक महीने से बिस्तर पर हूँ। मैं बिस्तर पर लेटा हुआ था, जब इमारत ढह गई। दो स्तंभों ने मलबे को मुझ पर गिरने से रोका हुआ था और मेरे ऊपर दो फीट की जगह थी”, दोशी ने कहा जिनका शांतिनिकेतन अस्पताल में इलाज चल रहा है।

लगभग शाम के 4 बजे उनके ऊपर से मलबे का एक बड़ा हिस्सा हटाया गया, जब उनके सेल फोन को नेटवर्क कवरेज मिला। उन्होनें तत्काल अपने बेटे, दर्शन को फोन किया और बताया की वे सुरक्षित हैं।

“रात के 10 बजे के आसपास मुझे रौशनी दिखी, जब मलबे को हटाया गया था”, दोशी ने कहा जिन्हे रात के 12.50 बजे इमारत के बचे हुए अवशेषों से निकाला गया था।

शिवसेना के कार्यकर्ता सुनील शिताप, जो साई दर्शन भवन में चार फ्लैटों के मालिक हैं,उन्हें रात भर पूछताछ के बाद बुधवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में, उन्हें 2 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। शिताप, निचली मंज़िल के तीन फ्लैट और पहली मंज़िल के एक फ्लैट के मालिक हैं और वो उन्होंने एक नर्सिंग होम को किराये पर दिए हुए हैं।

माना जा रहा है कि, नर्सिंग होम में चल रहे अनधिकृत परिवर्तनों के कारण ईमारत गिरी है, पुलिस ने कहा।

TOPPOPULARRECENT