Sunday , October 22 2017
Home / Bihar News / मुखालिफीन पार्टियों का रद्दो-अमल, रिश्वत देने बिहार पहुंचे हैं मोदी

मुखालिफीन पार्टियों का रद्दो-अमल, रिश्वत देने बिहार पहुंचे हैं मोदी

पटना : बिहार को सवा लाख करोड़ रुपए का पैकेज देने की वजीरे आजम नरेंद्र मोदी की एलान पर मुखतलिफ़ पार्टियों ने रद्दो-अमल दी है। उनके मुखालिफीन इसे आइंदा बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब में फ़ायदा हासिल करने की कोशिश बता रहे हैं। मंगल को वजीरे आजम नरेंद्र मोदी ने बिहार के आरा जिले में एक इंतिखाबी रैली को खिताब करते हुए रियासत को सवा लाख करोड़ रुपये का पैकेज देने का एलान किया।

एक नज़र इस एलान पर मुखतलिफ़ पार्टियों की रद्दो-अमल पर

मैंने मोदी जी की तरफ से ऐलान की गयी पैकेज के तफ़सीलात का इंतज़ार कर रहा हूँ। लेकिन मैं इस पर भी ज़ोर देना चाहता हूँ कि खुसुसि मदद हमारा हक़ है, किसी की फजलो करम नहीं।
नीतीश कुमार, बिहार के वजीरे आला

एलान से मुल्क या रियासत नहीं चल सकता। अगर एलान लागू नहीं होती तो इसका कोई मतलब नहीं है। इसी तरह की एलान लोकसभा इंतिख़ाब के वक़्त भी की गई थीं, लेकिन उन्हें लागू करने में दिक्कत बता रहे हैं। इस बार भी लॉलीपॉप दिखाने की कोशिश पीएम कर रहे हैं। इससे बिहार की आवाम पर कोई असर नहीं होगा।
वशिष्ठ नारायण सिंह, जेडीयू के बिहार सदर

ये एक और सियासी जुमला है। ये खुसुसि पैकेज उसी तरह का है, जैसे उन्होंने तमाम लोगों के खाते में डेढ़ लाख रुपए डालने का वादा किया था।
लालू प्रसाद यादव, आरजेडी सरबराह

एलान कर दी गई है, लेकिन कितने दिनों में ये रकम बिहार को मिलेगी, ये बात वाजेह नहीं की गई है। हमारी पार्टी वजीरे आजम की एलानात को बहुत ज़्यादा तवज्जो नहीं देती है। हो सकता है कि ये एलानात भी इंतिख़ाब के बाद जुमला साबित हों। वो बात कहने के बाद मुकरते रहते हैं।
अशोक चौधरी, बिहार रियासती कांग्रेस सदर

ये राहत पैकेज कम और बेइजति पैकेज ज़्यादा है। चूंकि बिहार में इंतिख़ाब हो रहे हैं तो मशरिकी भारत में उनको सिर्फ़ बिहार ही तरक़्क़ी के लिए मुनासिब दिखाई दिया। नीतीश कुमार की बढ़त ने वजीरे आजम की नींद उड़ा दी है। कल देर रात तक वो दुबई में थे, रूह उनकी बिहार में पड़ी हुई थी। और वो दुबई से बिहार के वोटरों को सियासी रिश्वत देने के लिए आरा पहुंचे।
केसी त्यागी, जेडीयू एमपी

वो गुजिशता एक साल से भी ज़्यादा वक़्त से वजीरे आजम हैं और बिहार की इक़्तेसादी हालत अच्छी नहीं है, ये बात वो पहले से भी जानते थे। लेकिन वो बिहार में इंतिख़ाब से ठीक पहले ही क्यों बड़े पैकेज की एलान कर रहे हैं। तो वो जुमलेबाजी में एक्सपर्ट हैं, इस बात को पूरा मुल्क जानता है।
शकील अहमद, कांग्रेस लीडर

 

TOPPOPULARRECENT