Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / मुजफ्फरनगर में दोबारा दंगा भड़कने के इम्कान

मुजफ्फरनगर में दोबारा दंगा भड़कने के इम्कान

उत्तर प्रदेश की हुकूमत ने पुलिस इंतेज़ामिया को कार्रवाई करने से रोककर दंगे को बढ़ाने का काम किया। हुकूमत ने मुजफ्फरनगर पुलिस‍ इ‍ंतेज़ामिया को दंगे पर कोई कार्रवाई नहीं करने दी।

उत्तर प्रदेश की हुकूमत ने पुलिस इंतेज़ामिया को कार्रवाई करने से रोककर दंगे को बढ़ाने का काम किया। हुकूमत ने मुजफ्फरनगर पुलिस‍ इ‍ंतेज़ामिया को दंगे पर कोई कार्रवाई नहीं करने दी।

मुजफ्फरनगर-शामली में हुए फिर्कावाराना दंगे पर इंटेलीजेंस ब्यूरो ( आईबी मुजफ्फरनगर) ने कई अहम खुलासे किए हैं। आईबी ने हुकूमत की पालिसीयों की वजह से न सिर्फ मुजफ्फरनगर, बल्कि मेरठ के शहर और देही इलाको में बड़ा फिर्कावाराना दंगा भड़कने की उम्मीद भी जताई है।

आईबी रिपोर्ट के मुताबिक फिलहाल मेरठ के देही इलाकों में सेक्युरिटी के बंदोबस्त काफी नहीं हैं।

आईबी ज़राए से मिली इत्तेला के तहत आईबी ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया है महापंचायत से ट्रैक्टर-ट्रॉली में भर कर लौट रहे लोगों पर जौली गंगनहर के पास बड़ा हमला हुआ। जिसमें काफी तादाद में लोग हताहत हुए।

आईबी की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस एक फिर्के के लोगों के मरने की रिपोर्ट पेश कर रहा है, जबकि दूसरे फिर्के के भी लोग मारे गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक जौली मामले में पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई भी नहीं की है।

आईबी ने ये खदशा ज़ाहिर किया कि हुकूमत की पालिसीयों की वजह से मुजफ्फरनगर में फिर्कावाराना हालात फिर बिगड़ सकते हैं।

आईबी ज़राए के मुताबिक मुजफ्फरनगर दंगा पूरी तरह से तय शुदा था। मुजफ्फरनगर वाकेय् कवाल में तीन लड़कों की मौत के बाद ही अगर पुलिस ने गिरफ्तारी कर ली होती, तो मामला इतना नहीं बढ़ता।

आईबी रिपोर्ट के तहत हुकूमत में नंबर दो हैसियत वाले एक वज़ीर ने पुलिस इंतेज़ामिया को कोई कार्रवाई न करने के हुक्म दिए थे।

इस वजह से मुजफ्फरनगर पुलिस‍ इंतेज़ामिया ने सात सितंबर को शाहपुर के बसीकलां, मीनाक्षी चौक, शहीद चौक, खालापार, कृष्णापुरी, मिमलाना रोड समेत देही इलाको में जहां दंगा भड़कने से रोका जा सकता था, लखनऊ से हुक्म न मिलने की वजह से कोई कार्रवाई नहीं की।

जैसा आईबी टीम को मुजफ्फरनगर पुलिस इंतेज़ामिया के ओहदेदारान ने मजबूरी बताई और आईबी ने इसे रिपोर्ट के एडवाइजरी नोट में शामिल किया है।

आईबी के मुताबिक मेरठ शहर के घंटाघर, बुढ़ाना गेट, गुलमर्ग, भूमिया का पुल, ईदगाह चौराहा, हापुड़ अड्डा समेत दंगायी इलाको में कभी भी दंगा हो सकता है। आईबी के मुताबिक मेरठ में अनासिर हर दिन साजिश बना रहे हैं।

बीते दिनों में जिसके तहत मेरठ में हालात बिगाड़ने की कोशिश की गई। रिपोर्ट के तहत मुजफ्फरनगर दंगे के बावजूद भी शहर में फोर्स की कमी है, ऐसे में दंगे हुए तो हालात भयावह हो सकते हैं।

शहर से ज्यादा खतरा मुजफ्फरनगर सरहद पर मेरठ से सटे गांवों में है। जहां सेक्युरिटी का कोई प्लान नहीं है, चौकियों पर बराए नाम के पुलिसअहलकार है। इसे देखते हुए आईबी ने सेक्युरिटी एजेंसियों को अलर्ट जारी कर दिया है।

———-बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT