Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / मुत्तहदा रियासत पर शिकस्त अभी क़बूल नहीं, जद्द-ओ-जहद जारी

मुत्तहदा रियासत पर शिकस्त अभी क़बूल नहीं, जद्द-ओ-जहद जारी

सियासी मुफ़ादात के फ़ैसले नाक़ाबिल-ए-क़बूल

सियासी मुफ़ादात के फ़ैसले नाक़ाबिल-ए-क़बूल

मर्कज़ी वज़ीर टेक्सटाइल के ऐस राव‌ ने कहा कि रियासत को मुत्तहिद रखने के मामले में हम ने अभी शिकस्त क़बूल नहीं की, हम अपनी जद्द-ओ-जहद जारी रखे हुए हैं और सीमा-आंध्र के कांग्रेस क़ाइदीन हाईकमान को हक़ायक़ से वाक़िफ़ करा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पार्टी उसूलों की बुनियाद पर किए गए फ़ैसले को तो क़बूल किया जा सकता है, ताहम सियासी मुफ़ादात के फ़ैसले हरगिज़ नहीं क़बूल किए जाऐंगे। उन्होंने कहा कि किसी सियासी सरपरस्ती के बगै़र सीमा-आंध्र के अवाम तक़रीबन दो माह से एहतेजाज जारी रखे हुए हैं।

अवाम ने हमें ऐवानों तक पहुंचाया है, लिहाज़ा उनके जज़बात का एहतेराम और उनकी राय को पार्टी क़ियादत तक पहुंचाना हमारी ज़िम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि तेलंगाना की ताईद में फ़ैसले के बाद सीमा-आंध्र में कांग्रेस पार्टी का मौक़िफ़ इंतिहाई कमज़ोर हो गया है। बहैसीयत रुकन कांग्रेस उन्हें पार्टी के मौक़िफ़ पर तशवीश है, ताहम पार्टी को मुस्तहकम बनाने का वक़्त अभी हाथ से नहीं निकला। कांग्रेस की वाई ऐस आर सी पी से साज़ बाज़ के बाद जगन मोहन रेड्डी को ज़मानत मिलने के इल्ज़ामात पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि जगन से साज़ बाज़ के शकूक हम सब में पाए जाते हैं, ताहम आगे आगे देखिए होता है क्या।

TOPPOPULARRECENT