Wednesday , September 20 2017
Home / Politics / मुद्रा का चलन बंद करने के फैसले पर मोदी भावुक हो गए

मुद्रा का चलन बंद करने के फैसले पर मोदी भावुक हो गए

पानाजी 14 नवंबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुरानी मुद्रा का चलन बंद करने के मुद्दे पर भावनाओं से भावुक हो गए। साथ ही साथ उन्होंने आक्रामक तेवर दिखाते हुए वादा किया कि अगर मुझे जिंदा जला दिया जाए तब भी भ्रष्टाचार के खिलाफ और अधिक कठोर उपाय करेंगे। विपक्ष खासकर कांग्रेस को निशाना बनाते हुए मोदी ने कहा कि जो लोग बड़े बड़े स्कैम में शामिल थे आज 4000 रुपए का तबादला कराने के लिए पंक्तियों में खड़े हैं। वे समझते हैं कि अगर वह मेरे बाल खींच ले तो मैं रुक जाऊँगा और कुछ नहीं करूंगा लेकिन मैं उनके आगे झुकने वाला नहीं हूँ। यहाँ तक कि मुझे ज़िंदा जला दिया जाए तो भी मैं अपना काम जारी रखूंगा। उनके भाषण जहां एक ओर भावनात्मक थी वहीं उन्होंने फिर आक्रामक तेवर दिखाए। मोदी ने कहा कि वह किसी भी प्रदर्शन का सामना करने के लिए तैयार हैं क्युंकि कुछ शक्तियां उनके खिलाफ उठ खड़ी हुई हैं।

क्युंकि मुद्रा का चलन बंद करने से उनकी 70 साल से जारी लूटपाट खतरे में पड़ गई। मोदी ने जो दौरान संबोधित कई बार भावुक होते दिखाई दे रहे थे, कहा कि ” मैं जानता हूं कि कुछ ताकतें मेरे विरुद्ध प्रतिक्रिया हो चुकी हैं। शायद वह मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे जाएगा। शायद वह मुझे बर्बाद कर देंगे क्यु‍ंकि उनके (शक्तियों) की 70 साल की गई लूट अब मुश्किल में आ गई है, लेकिन मैं (प्रदर्शन का) सामना करने तैयार हूं। ‘ मोदी ने कहा कि ”यह सरकार ईमानदार लोगों को छेड़छाड़ नहीं चाहती लेकिन बद दयानत लोगों को देना नहीं चाहती। 50 दिन मेरा साथ दीजिए। सब कुछ ठीक कर दिया जाएगा। आप ही बताइए कि भारत को लूटा गया या नहीं? कहा, मैं उसे रोकने नहीं जा रहा हूँ। स्वतंत्रता के 70 साल से जारी रिश्वत सताने के पूरे इतिहास बे नकाब करेंगे।”उन्होंने कहा कि ”यह (नोटों परिवर्तन) अंतिम उपाय नहीं है। भारत को रिश्वत मुक्त बनाने के लिए मेरे मन में और भी कई प्रोजेक्ट हैं। हम बेनामी संपत्तियों के खिलाफ भी कार्रवाई करेंगे।

TOPPOPULARRECENT