Tuesday , July 25 2017
Home / Education / मुफ्त में 65 लाख किताबें ऑनलाइन पढ़ी जा सकेंगी, IIT खड़गपुर के छात्रों ने बनाया ऐसा एप

मुफ्त में 65 लाख किताबें ऑनलाइन पढ़ी जा सकेंगी, IIT खड़गपुर के छात्रों ने बनाया ऐसा एप

खड़गपुर : अगर आप कोई किताब उसकी कीमत की वजह से नहीं खरीद पा रहे हैं तो अब आपके लिए खुशखबरी है. IIT खड़गपुर के छात्रों ने एक ऐसा मोबाइल एप्लि‍केशन विकसित किया है, जिसके जरिये मुफ्त में 65 लाख किताबें ऑनलाइन पढ़ी जा सकेंगी. इसमें रिसर्च पेपर्स, थीसिस और पीरियोडिकल्स आदि भी शामिल होंगे.

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर ने नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया के लिए Bibliophiles alert नाम का ऐप तैयार किया है. स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाला कोई भी व्यक्त‍ि इस ऐप को डाउनलोड कर सकता है और शुल्क दिए बगैर मुफ्त में 65 लाख किताबें पढ़ सकता है.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के इस प्रोजेक्ट को लेकर दावा किया जा रहा है कि इस ऐप में 8 राज्यों के बोर्ड की किताबों, NCERT टेक्स्टबुक, JEE के पिछले पेपर्स, GATE और UPSC और रिसर्च पेपर्स, ऑडियो बुक्स आदि यहां उपलब्ध होगा. पाठक भाषा, सोर्श, कंटेंट आदि के आधार पर किताबें ढूंढ़ सकते हैं. इस ऐप पर तीन भाषाओं अंग्रेजी, हिंदी और बांगला भाषा में किताबें पढ़ी जा सकती हैं.

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबरों के अनुसार संस्थान के निदेशक पी.पी. चक्रबर्ती ने कहा कि स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाला हर व्यक्त‍ि इस ऐप से लाभान्व‍ित हो सकता है. इसके जरिये पाठक देश के विभिन्न लाइब्रेरी में मौजूद किताबों को नि:शुल्क अपने मोबाइल पर पढ़ सकते हैं और विदेशी संग्रह की जानकारी भी हासिल कर सकते हैं. भारत के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग भी अपने स्मार्टफोन पर किताबें पढ़ सकते हैं. यह न केवल देश की बल्क‍ि वैश्व‍िक स्तर पर ऐसा नहीं कभी नहीं हुआ. दुनिया ने NDL ऐप जैसा डिजिटल संग्रह नहीं देखा है, जो पूरी तरह एजुकेशन पर केंद्र‍ित है.

TOPPOPULARRECENT