Thursday , October 19 2017
Home / India / मुलायम सिंह के दिल में वज़ीर-ए-आज़म बनने की ख़ाहिश बरक़रार

मुलायम सिंह के दिल में वज़ीर-ए-आज़म बनने की ख़ाहिश बरक़रार

कोलकता, १४ सितंबर : (पी टी आई) समाजवादी पार्टी सरबराह मुलायम सिंह यादव ने आज अपने वज़ारत-ए-उज़मा (प्रधान मंत्री पद के लिए) की ख़ाहिश का बरमला ( खुल्लम खुल्ला) इज़हार किया है। इन का कहना था कि 2014 लोक सभा इंतिख़ाबात ( चुनाव) के बाद क्या सूर

कोलकता, १४ सितंबर : (पी टी आई) समाजवादी पार्टी सरबराह मुलायम सिंह यादव ने आज अपने वज़ारत-ए-उज़मा (प्रधान मंत्री पद के लिए) की ख़ाहिश का बरमला ( खुल्लम खुल्ला) इज़हार किया है। इन का कहना था कि 2014 लोक सभा इंतिख़ाबात ( चुनाव) के बाद क्या सूरत-ए-हाल रौनुमा होगी ये कहा नहीं जा सकता।

अलतबा सियासत में कभी भी कुछ भी हो सकता है। मुलायम सिंह यादव ने एक सवाल पर कि बाअज़ गोशों से उन्हें मुस्तक़बिल ( भविष्य) के वज़ीर-ए-आज़म के तौर पर पेश किया जा रहा है, कहा कि आप की नेक तमन्नाओ का मैं ममनून हूँ लेकिन मैं वज़ारत-ए-उज़मा का उम्मदीवार नहीं हूँ।

ताहम ( यद्वपी) आगे की बात ऊपर वाले के हाथ हैं। कोई साधू या संत नहीं हूँ कि क़िस्मत का हामिल ब्यान कर सकूं जो कुछ सूरत-ए-हाल होगी इस के मुताबिक़ में अपना सयासी रोल अदा करूंगा।

TOPPOPULARRECENT