Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / मुल्क के लिये मोदी खतरनाक: पीएम

मुल्क के लिये मोदी खतरनाक: पीएम

वज़ीर ए आज़म मनमोहन सिंह ने जुमे के रोज़ नेशनल मीडिया सेंटर में हुई प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि हमने कई फैसले लिए जो मुल्क के लिए बेहतर हैं। उन्होंने सहाफियों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि अगला पीएम यूपीए क

वज़ीर ए आज़म मनमोहन सिंह ने जुमे के रोज़ नेशनल मीडिया सेंटर में हुई प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि हमने कई फैसले लिए जो मुल्क के लिए बेहतर हैं। उन्होंने सहाफियों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि अगला पीएम यूपीए का होगा, इस बात का मुझे यकीन है। अगर नरेंद्र मोदी पीएम बने तो यह मुल्क के लिए बदकिस्मती होगी और यह मुल्क के लिए खतरा होगा।

मनमोहन सिंह ने यह बात मुल्क के अगले पीएम और नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी के बीच मुकाबले के ताल्लुक में पूछे गए सवाल पर कही। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी का पीएम बनना मुल्क के लिए बहुत खतरा होगा। मनमोहन ने मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि अहमदाबाद की सडकों पर लोगों का कत्लेआम ताकत का सिंबल नहीं है। मजबूत लीडर का मतलब यह नहीं होता है कि अहमदाबाद में लोगों का कत्लेआम हो। यह पहला मौका है जब मनमोहन ने मोदी पर इतनी सख्त लहज़े का इस्तेमाल किया है। मनमोहन ने इससे पहले कभी भी मोदी के लिए कत्लेआम और खतरनाक जैसा लफ्ज़ इस्तेमाल नहीं किया।

इससे पहले मनमोहन ने गुजरात में एक प्रोग्राम के दौरान सरदार पटेल के मुद्दे पर मोदी को उनके सामने ही जवाब दिया था, लेकिन इस तरह का सख्त रूख पहली बार नजर आया। वज़ीर ए आज़्म ने मीडिया वालों से भी खिताब करते हुए कहा कि पिछले दहा में हमने बहुत उतार चढाव देखे। हाल के इंतेखाबात में मिली हार से हम सीख ले रहे हैं। हम विधानसभा इलेक्शन के नतीजो पर गौर करेंगे और मुनासिब सबक लेंगे। मैं अब चाहता हूं कि वज़ीर ए आज़म के ओहदे की जिम्मेदारी किसी और को मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पीएम उम्मीदवार कौन होगा, यह पार्टी तय करेगी।

राहुल गांधी इस ओहदा के लिए काबिल हैं। मैं अगले पीएम को विरासत देने के लिए तैयार हूं। एक सवाल के जवाब में पीएम ने कहा कि ऐसा कभी नहीं लगा कि उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। मैंने हमेशा ईमानदारी से काम किया है। अगले कुछ महीने में इलेक्शन के बाद मैं कामकाज नए वज़ीर ए आज़म को सौंप दूंगा। हम मुनासिब वक्त पर कांग्रेस के वज़ीर ए आज़म के ओहदे के उम्मीदवार का ऐलान करेंगे। यूपीए-1 की सरकार के खिलाफ करप्शन के इल्ज़ाम थे, लेकिन मुल्क की आवाम ने उन्हें कुबूल नहीं किया और हमें दूसरा इक्तेदार ए दौर सौंपा।

पीएम ने करप्शन से मुताल्लिक एक सवाल पर कहा कि जब तारीख लिखी जाएगी तो हम पाक साफ साबित होंगे। यूपीए अगर इक्तेदार में वापस आती है तो मैं अपने आपको वज़ीर ए आज़म के ओहदे की दौड से अलग करता हूं। राहुल गांधी में वज़ीर ए आज़म के ओहदे का उम्मीदवार बनने की सलाहियत हैं। राहुल गांधी अभी पार्टी में काम करना चाहते हैं। राहुल हुकूमत में आएंगे तो मजबूती मिलेगी।

मुझे यकीन है कि लोग इक्तेसादी और सामाजी इंकलाब को आगे बढाने के लिए कांग्रेस की कियादत वाले इत्तेहाद की जरूरत को समझेंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी फैसलों में किसी तरह की गलती को कानून की कायम अमल के तहत सजा दी जाएगी । पार्लियामेंट में गैर मामूली खलल के बावजूद हमने कई अहम कानून पास किए।

पीएम ने कहा कि आज मुल्क में गरीबों की तादाद कम हो रही है। हालांकि महंगाई रोकने में हम ज्यादा कामयाब नहीं रहे। वहीं, रोजगार देने में हमें बहुत कामयाबी नहीं मिली।

वहीं, फुड सेक्युरिटी बिल से लोगों को राहत मिली है। पीएम ने कहा कि जब भी जरूरत पडेगी मैं बोलने के लिए तैयार हूं। हालांकि उन्होंने वीरभ्रद सिंह के मसले पर बोलने से इनकार कर दिया। हमने सच्चर कमेटी की सिफारिशों पर काफी काम किया। उन्होंने यह भी कहा कि अरूण जेटली के इल्ज़ामात की सच्चाई का पता लगाएंगे। आम आदमी पार्टी को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में पीएम ने कहा कि यह तो वक्त बताएगा कि आम आदमी पार्टी के फैसले कितने सही हैं।

हम दिल्ली में मिले आवामी मंजूरी का एहतेराम करते हैं। मनमोहन ने कहा कि इत्तेहाद मज़हब की बुनियाद पर ही सारे फैसले लिए। कांग्रेस की सदर सोनिया गांधी से मुझे बहुत ताईद मिली। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि यह तारीख दान तय करेंगे कि मैं कितना कामयाब रहा। मेरा मानना है कि हम कामयाब रहे नाकामयाब नहीं।

TOPPOPULARRECENT