Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / मुशतर्का दारुल हुकूमत में लॉ एंड आर्डर गवर्नर के तहत रखने की तजवीज़

मुशतर्का दारुल हुकूमत में लॉ एंड आर्डर गवर्नर के तहत रखने की तजवीज़

आंध्र प्रदेश की तक़सीम के ज़रीए अलैहदा तेलंगाना की तशकील और दस बर्सों तक हैदराबाद को मुशतर्का दारुल हुकूमत के मसअले पर कांग्रेस की तशकील कर्दा ए के एन्टोनी कमेटी सरगर्मी से मुशावरत कर रही है।

आंध्र प्रदेश की तक़सीम के ज़रीए अलैहदा तेलंगाना की तशकील और दस बर्सों तक हैदराबाद को मुशतर्का दारुल हुकूमत के मसअले पर कांग्रेस की तशकील कर्दा ए के एन्टोनी कमेटी सरगर्मी से मुशावरत कर रही है।

मर्कज़ी हुकूमत मुशतर्का दारुल हुकूमत की सूरत में अमनो ज़ब्त के मसअले को गवर्नर के तहत रखने पर ग़ौर कर रही है। इस सिलसिले में तेलंगाना कांग्रेस क़ाइदीन से एन्टोनी कमेटी ने राय हासिल की। बताया जाता है कि तेलंगाना क़ाइदीन ने दस बरस तक मुशतर्का दारुल हुकूमत की बरक़रारी तक लॉ एंड आर्डर को गवर्नर के ज़िम्मा दिए जाने से इत्तिफ़ाक़ किया है।

चूँकि दोनों रियास्तों के चीफ़ मिनिस्टर्स हैदराबाद ही से काम करेंगे लिहाज़ा हैदराबाद में लॉ एंड आर्डर का मसअला गवर्नर के तहत होगा जबकि चीफ़ मिनिस्टर्स मुताल्लिक़ा रियास्तों के लॉ एंड आर्डर पर फ़ैसले करेंगे।
कांग्रेस क़ाइदीन की एन्टोनी कमेटी से मुलाक़ात से आज हैदराबाद वापसी के बाद मुहम्मद अली शब्बीर एम एल सी ने इशारा दिया कि मुशतर्का दारुल हुकूमत की सूरत में हैदराबाद में लॉ एंड आर्डर का मसअला गवर्नर के तहत होगा और तेलंगाना क़ाइदीन ने किसी तनाज़ा से बचने मर्कज़ की इस तजवीज़ से इत्तिफ़ाक़ किया है।

मुहम्मद अली शब्बीर ने कहा कि हैदराबाद में क़ियाम, तिजारत और तालीम के सिलसिले में सीमा आंध्र अवाम को अंदेशों का शिकार होने की ज़रूरत नहीं । उन्हों ने कहा कि दो अलैहदा रियास्तों के क़ियाम के बाद तेलुगु अवाम मुत्तहिद तौर पर अपने इलाक़ों की तरक़्क़ी को यक़ीनी बना सकते हैं।

उन्हों ने सीमा आंध्र क़ाइदीन बिलख़ुसूस ए पी एन जी ओज क़ाइदीन से अपील की कि वो इश्तिआल अंगेज़ ब्यानात के ज़रीए अवाम के दरमयान नफ़रत और दूरियां पैदा करने की कोशिश ना करें।

TOPPOPULARRECENT