Sunday , October 22 2017
Home / Delhi News / मुशावरत ने फ़साद ज़दगान की जबरी वापसी की कोशिशों की मुज़म्मत की

मुशावरत ने फ़साद ज़दगान की जबरी वापसी की कोशिशों की मुज़म्मत की

हिंदुस्तानी मुस्लिम तंज़ीमों की वफ़ाक़ी तंज़ीम ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस मुशावरत ने आज यहां इस रिपोर्ट की मुज़म्मत की है जो समाजवादी पार्टी के कुछ लीडरान ने मुज़फ़्फ़र नगर और उसके नवाही इलाक़ों का दौरा करने के बाद पार्टी के सदर को पेश की है

हिंदुस्तानी मुस्लिम तंज़ीमों की वफ़ाक़ी तंज़ीम ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस मुशावरत ने आज यहां इस रिपोर्ट की मुज़म्मत की है जो समाजवादी पार्टी के कुछ लीडरान ने मुज़फ़्फ़र नगर और उसके नवाही इलाक़ों का दौरा करने के बाद पार्टी के सदर को पेश की है और जिस में ये दावा किया गया है कि अपने मुफ़ाद की वजह से मदारिस फ़साद के मज़लूमीन की वापसी में रुकावट पैदा कररहे हैं।

मुशावरत ने उत्तरप्रदेश की समाजवादी हुकूमत की इन कोशिशों की भी मुज़म्मत की जिनका मक़सद फ़साद के मज़लूमीन को ज़बर्दस्ती उन के गाव‌ वापिस भेजना है जहां उनके रिश्तेदार क़त्ल किए गए और ज़िंदा जलाए गए जहां उनके घर तोड़े गए और जलाए गए और जहां उनकी औरतों की इस्मतदरी की गई और उनकी लड़कियों को अग़वा करलिया गया।

मुस्लिम मजलिस मुशावरत के सदर डाक्टर ज़फ़रुल-इस्लाम ख़ान ने आज यहां एक बयान में कहा कि अगरचे मुशावरत समाजवादी हुकूमत की इन कोशिशों को अच्छी समझती है जो उसने फ़साद के बाद मज़लूमीन को मदद पहुंचाने और उनको मुआवज़ा देने के सिलसिला में की हैं लेकिन इसीके साथ मुशावरत उत्तरप्रदेश सरकार की इन कोशिशों के बिलकुल ख़िलाफ़ है जो पनाह‌ गज़ीन मज़लूमीन को ज़बर्दस्ती उनके गाव‌ वापिस भेजने केलिए की जा रही हैं

उनके क़ातिल अब भी वहां आज़ाद घूम रहे हैं और वो अपने गाव‌ में सहाफियों तक पर हमले कररहे हैं। डाक्टर ज़फ़रुल-इस्लाम ने कहा कि वो पनाह‌ गज़ीन जो महज़ डर की वजह से भाग आए थे उनकी अक्सरियत अब अपने गाव‌ को वापिस जा चुकी है लेकिन ऐसे पनाह गज़ीन जिन्होंने अपनी आँखों से क़त्ल आतिश्ज़नी और इस्मतदरी देखी है और जिन के घर और इमलाक जलाए गए हैं और जिन की औरतों की इस्मतदरी की गई है वो वापिस जाने केलिए तैयार नहीं हैं।

डाक्टर ज़फ़रुल-इस्लाम ने कहा कि ये हक़ीक़त हम ने फ़साद के बाद मुज़फ़्फ़र नगर और इसके नवाही इलाक़ों के तक़रीबन एक दर्जन पनाह गज़ीन कैम्पों का दुबारा दौरा कर के ख़ुद देखा है और पनाह गज़ीनों से हमारी बातचीत के दौरान वहां मदरसों का कोई आदमी मौजूद नहीं था। डाक्टर ज़फ़रुस्लाम ने कहा कि अगर उत्तरप्रदेश की सरकार वाक़ई संजीदा है तो उसे पनाह गज़ीनों की वापसी का रास्ता हमवार करना चाहिए कि तमाम नामज़द मुजरिमों को गिरफ़्तार करे पनाह गज़ीनों के टूटे और जलाए हुए घरों दुकानों और फ़ैक्ट्रीयों को दुबारा तामीर करे।

TOPPOPULARRECENT