Monday , October 23 2017
Home / India / मुसलमानों की पसमांदगी और बदहाली के लिये कांग्रेस सब से ज़्यादा जिम्मेदार्

मुसलमानों की पसमांदगी और बदहाली के लिये कांग्रेस सब से ज़्यादा जिम्मेदार्

लखनऊ, २९ जनवरी (यू एन आई) शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुख़ारी ने उतर प्रदेश असेंबली इंतेख़ाबात में समाजवादी पार्टी की हिमायत का ऐलान करते हुए मुसलमानों से अपील की है कि वो अपने वोट के जमहूरी हक़ का भरपूर इस्तेमाल करें।

लखनऊ, २९ जनवरी (यू एन आई) शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुख़ारी ने उतर प्रदेश असेंबली इंतेख़ाबात में समाजवादी पार्टी की हिमायत का ऐलान करते हुए मुसलमानों से अपील की है कि वो अपने वोट के जमहूरी हक़ का भरपूर इस्तेमाल करें।

समाजवादी पार्टी के सदर जनाब मुलायम सिंह यादव- के साथ एक मुशतरका प्रेस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए शाही इमाम ने कहा समाज वादी पार्टी के इंतेख़ाबी मनशूर में मुसलमानों के ताल्लुक से किऐ गए वादों और पार्टी सदर मिस्टर मुलायम सिंह यादव की यक़ीन दहानी के पेश नज़र उन्होंने समाजवादी पार्टी की हिमायत का फ़ैसला किया है |

इस यक़ीन के साथ कि इक़तिदार में आने की सूरत में मिस्टर मुलायम सिंह यादव- उतर प्रदेश में मुसलमानों के साथ हो रही मुसलसल नाइंसाफीयों और ज़यादतीयों के अज़ाला के साथ मुसलमानों को ज़िंदगी के हर शोबे में आबादी के तनासुब से रिज़र्वेशन देने के वायदा पर अमल दरआमद के लीये दियानत दाराना कोशिश करेंगे।

कांग्रेस पार्टी के रवैया और मुसलमानों को महरूमीओ में मुबतला करने के लीये कांग्रेस पर शदीद नुक्ता चीनी करते हुए मौलाना बुख़ारी ने कहा मुसलमानों की पसमांदगी और बदहाली के लीये मैं कांग्रेस को सब से ज़्यादा ज़िम्मादार समझता हूं जिस ने हर इलेक्शन के मौक़ा पर मुसलमानों को फ़रेब देकर वोट हासिल किऐ लेकिन इंतेख़ाबात गुज़रने के बाद ज़ख़्म देने के अलावा कुछ नहीं दिया।

उन्हों ने इल्ज़ाम लगाया कि तक़रीबन50 साल तक मुल्क पर इक़तिदार करने वाली कांग्रेस के दामन पर मुसलमानों के ख़ून के धब्बे हैं।उनका कहनाहै कि कांग्रेस ने मुसलमानों को जान ओ-माल की तबाही, बेरोज़गारी ,नाख़ान्दगी, मुफ़लिसी और ज़िल्लत ओ-रुसवाई के अलावा कुछ नहीं दिया।

शाही इमाम ने कहा कांग्रेस के दूर इक़तिदार में हज़ारों मुस्लिम कश फसादाद हुए जिन में बेशुमार मुसलमानों को अपनी जान ओ-माल से हाथ धोना पड़ा।

उन्होंने कहा दहशत गर्दी के ख़िलाफ़ कार्रवाई की आड़ में तीन साल क़बल बटला हाऊस में दो मुस्लिम नौजवानों का फ़र्ज़ी एनकाउंटर किया गया इस के बाद मुल्क भर के मुसलमानों की तरफ़ से साजिद और आतिफ़ के क़तल की अदालती तहक़ीक़ात का मुतालबा किया मगर कांग्रेस की कियादत वाली मरकज़ी हुकूमत ने इसकी इ‍ंक्वायरी कराने से साफ़ इन्कार कर दीया।

शाही इमाम ने कहा अफ़सोस है कि मुल्क भर में बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ़्तारीयों का जो-सिलसिला शुरू हुआ वो आज तक जारी है। मक्का मस्जिद हैदराबाद, मालेगांव , समझौता एक्सप्रेस और दरगाह अजमेर शरीफ़ में हुए बम धमाकों का ज़िकर करते हुए मौलाना बुख़ारी ने कहा इस सिलसिला में साध्वी परग्या ठाकुर, कर्नल पुरोहित और असीमान‍ंद जैसे लोगों की गिरफ्तारियां और इक़बाल जुर्म के बावजूद यक्का तफतीशी एजेंसीओ का रुख हमेशा मुसलमानों की तरफ़ रहता है।

इनकी हालत दलितों से भी बदतर हो चुकी है। सच्चर कमेटी की रिपोर्ट का ज़िकर करते हुए शाही इमाम ने इल्ज़ाम लगाया कि सच्चर कमेटी इसलिऐ बनाई गई थी कि कांग्रेस ये देख सके कि 60 साल पहले मुसलमानों को तबाह-ओ-बरबाद करने का जो-मनसूबा इस ने बनाया था वो इस में किस हद तक कामयाब रही है।

उन्होंने कहा क्या वजह है कि सच्चर कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद आज तक इस पर अमल नहीं किया गया।

TOPPOPULARRECENT