Saturday , August 19 2017
Home / Islami Duniya / मुसलमानों के लिए अमेरिका आने पर पाबंदी ‘नाइंसाफी’ है, अंजेला मैर्केल

मुसलमानों के लिए अमेरिका आने पर पाबंदी ‘नाइंसाफी’ है, अंजेला मैर्केल

बर्लिन: जर्मन चांसलर अंजेला मैर्केल ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध की आलोचना करते हुए उन्हें ”ना इंसाफी” करार दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

डीडब्ल्यू के अनुसार जर्मन चांसलर के प्रवक्ता की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मैर्केल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से एमेग्रेशन के संबंध में लगाए जाने वाली प्रतिबंध के खिलाफ़ हैं: ” चांसलर दुखी हैं कि अमेरिकी सरकार ने शरणार्थियों और कुछ विशिष्ट देशों के नागरिकों पर देश में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया है। ”

बयान में कहा गया है, ” मैर्केल को विश्वास है कि आतंकवाद विरोधी लड़ाई अपनी जगह है, मगर सामान्य चिंताओं पर विशिष्ट क्षेत्रों और विशिष्ट मान्यताओं पर विश्वास रखने वालों के खिलाफ प्रतिबंध अन्याय पर आधारित है। ”

जर्मन सरकार का कहना है कि वे इस प्रतिबंध के परिणाम की समीक्षा करेगी, क्योंकि दोहरी नागरिकता के कई जर्मन नागरिक भी अमेरिकी फैसले की चपेट में आ सकते हैं।

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रम्प के इस फैसले के बाद अमेरिका और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गंभीर प्रतिक्रिया सामने आ रहा है। शुक्रवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने देश में प्रवासियों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी थी, जबकि ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के नागरिकों को अगले तीन महीने तक अमेरिकी वीजा जारी नहीं करने का ऐलान किया था ।

अमेरिका की एक संघीय अदालत ने राष्ट्रपति के आर्डर के कुछ हिस्स्सों के लागू पर रोक लगा दिया था. मैर्केल की ओर से अमेरिकी फैसले की निंदा एक ऐसे मौके पर सामने आई है, जब केवल एक दिन पहले चांसलर मैर्केल ने टेलीफोन पर नए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से बातचीत की। इस बातचीत में मध्य पुर्व, नाटो और रूस के साथ संबंधों सहित कई मुद्दों पर विमर्श किया गया।

TOPPOPULARRECENT