Friday , September 22 2017
Home / World / मुसलमानों को उत्पीड़न का सिलसिला बंद किया जाए: ट्रम्प

मुसलमानों को उत्पीड़न का सिलसिला बंद किया जाए: ट्रम्प

वाशिंगटन 15 नवंबर: अमेरिका के नवनिर्वाचित सदर डोनाल्ड ट्रम्प ने अपनी चुनावी जीत के बाद देश में मुसलमानों, अफ्रीकी अमेरिकियों और लाटियनीों को परेशान किए जाने की सूचना पर दुखी होकर पहली बार जनता से बरसर-ए-आम कहा है कि यह (उत्पीड़न का सिलसिला) बंद किया जाए।

ट्रम्प ने सीबीएस के ’60 मिनट ‘कार्यक्रम में कहा,’ ‘यह सूचना सुनकर मुझे बेहद अफसोस हुआ। और मैं फ़ौरी कहा कि यह बंद करो। अगर मेरे ऐसा कहने से मदद मिल सकती है तो मैं ऐसा कहा है।

में कैमरे के सामने फिर यही कहूंगा कि ” यह (हरसानी) बंद करो। डोनाल्ड ट्रम्प हालिया दिनों के दौरान अमेरिकी मुसलमानों, स्पेनिश, काले, अन्य जातीय अल्पसंख्यकों के अलावा ज़नखों और समलैंगिक के खिलाफ नफरत हमलों की लहर के बारे में एक सवाल का जवाब दे रहे थे।

ट्रम्प से पूछा गया था कि आप इस समस्या पर कुछ कहेंगे? । ट्रम्प ने कहा कि ” मैं यही कहूंगा कि ऐसा न किया जाए। यह अत्यंत भयानक और मैं इस देश को एकजुट करना चाहता हूँ। ‘ अमेरिका के निर्वाचित सदर ने कहा कि समाज के कुछ तबक़ात उनसे डरते हैं कयुंकि वे (तबक़ात) उन्हें (ट्रम्प को) नहीं जानते है।

उन्होंने इन तबक़ात के लोगों से कहा कि वे उनसे भयभीत न हों। ट्रम्प से पूछा गया था कि ” आप के खिलाफ उनके प्रदर्शन को आप क्या समझते हैं? ”। उन्होंने कहा कि ”यह इसलिए हो रहा है कि वे मुझे नहीं जानते। ” उन्होंने विकीलीक्स दिए गए कुछ सवालों का जिक्र करते हुए कहा कि ”मुझे लगता है ऐसा भी है कि कुछ मामलों में पेशेवर विरोध भी शामिल हैं। ” ट्रम्प ने कहा कि ”इससे भयभीत होने की जरूरत नहीं है।

हम अपने देश को फिर एकजुट सक्रिय और गतिशील बनाने जा रहे हैं लेकिन यक़ीनन किसी को भी भयभीत नहीं होना चाहिए। आप जानते हैं कि हम चुनाव चरण से गुजरे हैं। आप भी कुछ समय दिया जाना चाहिए। मेरा मतलब है कि जनता विरोध कर रहे हैं। यूं समझ लीजिए कि अगर हिल्लेरी जीत जातीं और मेरे लोग बाहर निकल आते और विरोध करते तो हर कोई कहता कि यह बड़ी भयानक बात है। और इससे भी कहीं ज्यादा अलग दृष्टिकोण हो सकता था। उसका पृथक रवैया होता आप जान लेना चाहिए कि यहां दोगली गुणवत्ता है।”

TOPPOPULARRECENT