Thursday , August 17 2017
Home / India / ‘मुसलमानों को बांटने’ की कोशिश में ‘बरेलवी तंजीम’ ने की ‘वहाबी इस्लाम’ की मज़म्मत, मोदी ने की थी अपील

‘मुसलमानों को बांटने’ की कोशिश में ‘बरेलवी तंजीम’ ने की ‘वहाबी इस्लाम’ की मज़म्मत, मोदी ने की थी अपील

नई दिल्ली: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद एक बरेलवी तंजीम ने ‘वहाबी इस्लाम’ की मज़म्मत की है. आल इंडिया तंजीम उलमाए-ए-इस्लाम ने वहाबी इस्लाम को आतंकवाद का कारण मानते हुए कहा कि वहाबी कट्टरवाद मुसलमानों में सऊदी अरब और क़तर जैसे देशों के पैसों की मदद से एक वायरस की तरह फैलाया गया है.

साथ ही इस तंजीम ने मांग की कि वहाबी और सलाफ़ी तंजीमों पे रोक लगाई जाए. इस कांफ्रेंस में कहा गया कि वहाबियत एक गन्दी राजनीति का हिस्सा है और इसका इस्लाम से कोई लेना देना नहीं है.

बरेलवी तंजीम के इस बयान के बाद इस्लाम को मानने वाले लोग नाराज़ हैं और वो इसे मज़हब को बांटने की कोशिश का नाम दे रहे हैं. मालूम हो कि वहाबी-सलाफ़ी को मानने वाले लोग हिन्दुस्तान समेत दुनिया के हर देश में पाए जाते हैं और दूसरे मज़हब के लोगों के साथ मोहब्बत से रहते हैं इसलिए ऐसा कहना कि वहाबीयत आतंकवाद है तो इसमें कोई सच्चाई नहीं समझी जा सकती, प्रधानमन्त्री मोदी को भी चाहिए कि इस तरह की अपील करने से बेहतर था कि वो सीधे आतंकवाद की मज़म्मत की बात करते किसी एक फ़िर्के को ले कर बात करवाना अपने आप में लोगों को बांटने की कोशिश ही माना जाएगा.

TOPPOPULARRECENT