Sunday , August 20 2017
Home / Delhi News / मुसलमानों को लेकर बीजेपी, संघ और सपा ने अपना नजरिया नहीं बदला तो हम ओवैसी के साथ आ सकते है- अरशद मदनी

मुसलमानों को लेकर बीजेपी, संघ और सपा ने अपना नजरिया नहीं बदला तो हम ओवैसी के साथ आ सकते है- अरशद मदनी

नई दिल्ली। देश के प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने कहा है कि अगर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ बीजेपी और सपा ने मुसलमानों को लेकर अपने नजरिए में बदलाव नहीं किया तो वह देश को मजबूत बनाने के लिए तौकिर रजा खान और ओवैसी के साथ एक मंच पर साथ आ सकते हैं उनके साथ चलने और मिलकर काम करने को तैयार है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करियेj

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना सैयद अरशद मदनी ने कहा, ‘‘हमारी उनसे कोई सियासी लड़ाई नहीं है, कोई सत्ता की लड़ाई नहीं है. हम प्यार-मोहब्बत को बढ़ावा देना चाहते हैं हम बात करेंगे और आगे बढ़ेंगे। ऐसा होना तो बड़ी अच्छी बात है। मदनी ने कहा कि सरकार और देश के मुस्लिम संगठनों के बीच संपर्क और बातचीत की पहल पहले सरकार को करनी चाहिए।

मदनी ने देश में मदरसों को लेकर ‘गलतफहमियों’ को दूर करने और हिंदू-मुस्लिम एकता पर जोर देते हुए कहा कि भाई-चारा बढ़ाने में मदरसे अहम भूमिका निभा सकते हैं. उन्होंने कहा, मदरसों का नेटवर्क गांव-गांव तक फैला है। अब हम मदरसों के सुपुर्द एक और काम सौंपना चाहते हैं। यह काम भाई-चारे के पैगाम का है। उन्हें मजहब के असली पैगाम यानी इंसानियत की बुनियाद पर भाई-चारा बढ़ाने के लिए आगे आना होगा।

TOPPOPULARRECENT