Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / मुस्लमानों की पसमांदगी देखकर सदर नशीन जी सुधीर अशकबार

मुस्लमानों की पसमांदगी देखकर सदर नशीन जी सुधीर अशकबार

हैदराबाद 14 अक्टूबर: हुकूमत ने अगरचे मुस्लमानों की तालीमी, समाजी और मआशी सूरत-ए-हाल का जायज़ा लेने के लिए क़ायम करदा कमीशन आफ़ इन्क्वारी की मीयाद में मार्च 2016 तक तौसी की है। ताहम कमीशन से ख़ाहिश की गई के वो जल्द से जल्द हुकूमत को अपनी रिपोर्ट और सिफ़ारिशात पेश करे।

कमीशन के ज़राए ने बताया कि हुकूमत ने मुक़र्ररा मीयाद के दौरान रिपोर्ट की पेशकशी के अलावा कमीशन से ख़ाहिश की हैके वो मुस्लमानों के लिए बाज़ नई स्कीमात की तजावीज़ पेश करें जिनके ज़रीये तालीमी तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाया जा सके।

कमीशन आफ़ इन्क्वारी ने अपनी कारकर्दगी में शिद्दत पैदा कर दी है 15 ता 17 अक्टूबर रंगारेड्डी और हैदराबाद के दौरे का प्रोग्राम तए किया गया। इस दौरे में ना सिर्फ ओहदेदारों के साथ स्कीमात का जायज़ा लिया जाएगा बल्कि अवामी समाअत का एहतेमाम होगा। बताया जाता है के 15 और 16 अक्टूबर को कमीशन रंगारेड्डी का दौरा करेगा। ज़िला परिषद ऑफ़िस में अवामी समाअत की जाएगी जबकि 16 अक्टूबर को कमीशन तंडोर का दौरा करेगा।

17 अक्टूबर को 11 बजे दिन ता देढ़ बजे दोपहर तक शंकर जी आडीटोरीयम , विनीता महाविद्यालय नुमाइश ग्रांऊड नामपली में अवामी समाअत की जाएगी। ज़िला कलेक्टर हैदराबाद राहुल बोज्ह ने ये बात बताई और मुस्लिम इदारों, मुस्लिम तन्ज़ीमों से अपनी तजावीज़-ओ-मश्वरे और मसाइल से कमीशन को वाक़िफ़ करने की ख़ाहिश की और तहरीरी याददाश्तें दरख़ास्तें भी कमीशन के रूबरू पेश करने का मश्वरह दिया।

रिटायर्ड आई ए एस ओहदेदार जी सुधीर की क़ियादत में क़ायम करदा इस कमीशन ने अभी तक मेदक, महबूबनगर, निज़ामबाद और आदिलाबाद का दौरा किया है। पहले मरहले के इस दौरा में ना सिर्फ मुस्लमानों की पसमांदगी का जायज़ा लिया गया बल्कि उर्दू मीडियम मदारिस का मुआइना किया गया। बताया जाता हैके बहुत जल्द नलगेंडा, करिमनगर और खम्मम के दौरे के प्रोग्राम को क़तईयत दी जाएगी। कमीशन की तरफ से मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात में मुस्लमानों की नुमाइंदगी के बारे में आदाद-ओ-शुमार तलब किए जा रहे हैं और कई मह्कमाजात ने कमीशन को तफ़सीलात रवाना कीं।

बताया जाता हैके तेलंगाना में मुलाज़िमतों में मुस्लमानों की नुमाइंदगी 2 फ़ीसद से कम है जबकि आला ओहदों पर मुस्लमान एक फ़ीसद भी नहीं हैं। तालीमी पसमांदगी के बारे में भी कमीशन को कई चौंका देने वाले आदाद-ओ-शुमार हासिल हुए हैं। बताया जाता हैके अज़ला के दौरे के मौके पर मुस्लमानों की पस्ती और पसमांदगी की हालत-ए-ज़ार देखकर सदर नशीन जी सुधीर अशकबार हो गए।

कमीशन के अरकान में डाक्टर आमिर उल्लाह ख़ां, प्रोफेसर अबदुलशाबान और एम-ए बारी शामिल हैं। कमीशन के अरकान का एहसास है के अक़लियतों से मुताल्लिक़ हुकूमत की स्कीमात पर अमल आवरी की रफ़्तार ग़ैर इतमीनान बख़श है और खासतौर पर अज़ला में महिकमा अक़लियती बहबूद की कारकर्दगी मायूसकुन है।

TOPPOPULARRECENT