Wednesday , October 18 2017
Home / Khaas Khabar / मुस्लमानों में फूट से अमरीका और इसराईल को फ़ायदा

मुस्लमानों में फूट से अमरीका और इसराईल को फ़ायदा

तहरान 27 जून (एजेंसीज़) ईरान के वज़ीर-ए-दिफ़ा अहमदी वहीदी ने ख़बरदार किया है कि आलमे इस्लाम में इंतिशार और फूट का सब से ज़्यादा फ़ायदा अमरीका और इसराईल को होगा।

तहरान 27 जून (एजेंसीज़) ईरान के वज़ीर-ए-दिफ़ा अहमदी वहीदी ने ख़बरदार किया है कि आलमे इस्लाम में इंतिशार और फूट का सब से ज़्यादा फ़ायदा अमरीका और इसराईल को होगा।

अहमदी वहीदी ने कहा की मुस्लमानों में फूट ने दीगर ताक़तों को मज़बूत बना दिया है। चहारशंबा के दिन एक इंटरव्यू में अहमद वहीदी ने मिस्र में तफ़ख़ीरी इंतहापसंदों(आतंकियों) की जानिब से चार शिया मुस्लमानों के क़त्ल की मुज़म्मत करते हुए इस बात की निशानदही की कि अमरीका और अल-क़ूदस के क़ाबिज़ यहूदी ताक़तें वाहिद फ़रीक़ैन हैं, जो आलमे इस्लाम में पैदा होने वाली फूट का फ़ायदा उठा रहे हैं। मुख़्तलिफ़ मकातिबे फ़िक्र के हामिल इस्लामी तंज़ीमों में इंतिशार ने दुश्मनों को ताक़तवर बना दिया है।

इतवार के दिन तफ़क़ीरी इंतहापसंदों के एक ग्रुप ने शिया आलिमे दीन शेख़ हसन शिहाता की रिहायशगाह पर हमला किया। इस हमले में आलिमे दीन के इलावा उनके तीन हामी हलाक होगए थे। अहमद वहीदी ने कहा कि मुस्लमानों में आपसी दुश्मनी और नफ़रत का फ़ायदा अमरीका और इसराईल उठा रहे हैं। दरअसल जो ताक़तें आपस में दस्त-बह-गिरेबान हैं, वो इसराईल और अमरीका के बहकावे में आई हैं। इन ताक़तों के उकसाने के वजह से ही मुस्लमान एक दूसरे का ख़ून बहा रहे हैं। क़त्ल-ए-आम का सिलसिला इस्लामी मुआशरे के लिए ख़तरनाक है। वज़ीर-ए-दिफ़ा ईरान ने शिया और सुन्नियों को इस्लाम के दो सतून क़रार दिया और निशानदही की कि शिया और सुन्नियों को मिल जुल कर रहना होगा। बिलाशुबा आलमे इस्लाम मुत्तहिद रहे तो दुश्मन ताक़तें अपने मंसूबों में नाकाम रहेंगी।

मिस्र के जामिआ अज़हर के शेख़ व कई मुफ़क्किरीन इस्लाम ने इस जुर्म की मुज़म्मत की है। मिस्र में हुए क़त्ल को घिनावना जुर्म क़रार दिया गया है। तफ़क़ीरी तंज़ीम ख़ुद को इस्लामी तालीमात पर दरुस्त तौर पर अमल पैरा होने का दावा करती है। दीगर मुस्लमानों को ग़ैर अक़ीदा क़रार देती है। सलफ़ी हमेशा शिया तबक़े को निशाना बनाते आरहे हैं। इसी दौरान बैत-उल-मुक़द्दस पर क़ब्ज़ा करने वाले यहूदीयों को नाकाम बनाने के लिए मुस्लमानों में यकजहती की वकालत करते हुए मुफ़क्किर इस्लाम ने कहा कि यहूदीयों के क़ब्ज़े से अल-क़ूदस को आज़ाद कराने के लिए आलमे इस्लाम का मुत्तहिद होना ज़रूरी है।

मिस्र में होने वाली सयासी तबदीलीयों और इख़वान अलमुस्लिमीन की बढ़ती हुई सयासी सरगर्मियों के दरमयान मुत्तहदा अरब इमारात के पुलिस सरबराह ने कहा कि ख़लीजी मुमालिक में इख़वान अलमुस्लिमीन से ख़तरा बढ़ गया है। इक़तिदार पर क़बज़ा करना और अपने नज़रियात को मुसल्लत करने का नया रुजहान ख़लीजी मूमालिक के लिए ख़तरनाक है। लीफ़टिनेंट जनरल ज़ाही अलख़लफ़ान तमीम कमांडर इन चीफ़ दुबई पुलिस ने कहा कि अरब ख़लीजी मुल्कों के दाख़िली उमूर में इख़वान अलमुस्लिमीन की मुदाख़िलत से हालिया महीनों में ख़तरात बढ़ गए हैं। गल्फ़ न्यूज़ के मुताबिक़ इस ख़ित्ते में हुकूमतों और अवाम को दुश्मन तंज़ीम के मुफ़ादात के मुताल्लिक़ चौकस रहना ज़रूरी है। इख़वान अलमुस्लिमीन आलिम अरब में खु़फ़ीया सरगर्मीयों के साथ इंतिशार फैलाने की कोशिश कररही है।

TOPPOPULARRECENT